जल संस्थान के लीकेज से लोनिवि को करोड़ो का नुकसान, पत्र से भेजी शिकायत

हल्द्वानीः गर्मियों के शुरू होते ही पानी की समस्या सबसे तेजी से शुरू हो गई है। हल्द्वानी के विकास में पानी सबसे महत्वपूर्ण समस्या की तरह देखा जा रहा है। पानी की समस्या के कारण लोक निर्माण विभाग को भी काफी बड़ा नुकसान हो रहा है। पेयजल लाइनों से लीक हो रहे पानी से लोक निर्माण विभाग की करीब दो करोड़ की सड़के उखड़ गई है। लीकेज के कारण सड़कों में बड़े-बड़े गड्डे हादसे का कारण बनते नजर आ रहे हैंा।  लोनिवि के ईई ने लीकेज की परेशानी के कारण जल संस्थान के अधिकारियों को एक लिखित शिकायत पत्र देकर लीकेज की मरम्मत कराने के आदेश दिये है।

साहस होम्योपैथिक की ये टिप्स मानसिक रोग से दिलाएगी निजात

गर्मियों में पानी की कमी के कारण हर कोई परेशान दिख रहा है। यही कारण है कि पानी को बचाने के लिए जल संस्थान ने हर एक निर्माण कार्य रूकवाने का आदेश दे दिया है। वहीं जल संस्थान के अधिकारी लाइनों के लीकेज भी सही नहीं करा पा रहे हैं। लाइनों में लीकेज के कारण रामपुर रोड गन्ना सेंटर और मेडिकल कालेज नैनीताल रोड के पास सड़क में एक -एक फीट गहरा गड्ढा बन गया है। जल संस्थान की इस लापरवाही का अंजाम लोनिवि को भुगतना पड़ रहे है। हल्द्वानी के मुख्य मार्ग जैसे नैनीताल रोड , बरेली रोड और कालाढूंगी रोड में पेयजल लाइन लीकेज होने से पानी की बर्बादी के साथ सड़क को भी भारी नुकसान हो रहा है।वही बरेली रोड के निर्माण को दो साल से ग्रामिणों का संघर्ष जारी है। एनएचएआई की ओर से बरेली रोड के गड्ढों को भरने के लिए लगाए गए टल्ले दो दिन बाद ही उखड़ना शुरू हो गए हैं। दो दिन पूर्व एनएचएआई ने सड़क बनाने की जगह इस सड़क के गड्ढों को डामर से भर दिया था। दो दिन बाद ये पैच उखड़ने लग गए हैं। बरेली रोड में सबसे बड़ी समस्या यह है कि बरेली रोड के साथ ही नहर बनी है जिसका पानी हर बार सड़क पर फैल जाता है।