मंगल ग्रह पर पहुंचा हल्द्वानी की दो बेटियों का नाम, कुमाऊं विश्वविद्यालय से कर रही हैं पढ़ाई

हल्द्वानी: शहर के डिग्री कॉलेजों में पढ़ने वाली दो छात्राओं का नाम मंगल ग्रह पर पहुंच गया है। नासा द्वारा मंगल ग्रह पर एक अंतरिक्ष यान भेजा गया है। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा द्वारा मंगल पर जीवन की संभावनाओं को तलाशने का प्रयास है। इसी यान में महफूज है हल्द्वानी की दो छात्राओं शिवानी मिश्र और हिमानी मिश्र का नाम।

हल्द्वानी शहर के लिए यह गर्व की बात है कि अब शहर की बेटियां अपना नाम मंगल ग्रह तक पहुंचाने में कामयाब हुईं हैं। शुक्रवार को अंतरिक्ष में पहुंच चुके इस यान में सिलिकॉन वेफर माइक्रोचिप पर एक इलेक्ट्रॉनिक बीम की मदद से 30 नाम उकेरे गए हैं। इसी चिप पर इन दोनों छात्राओं के नाम भी शामिल हैं।

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी बेस हॉस्पिटल:इलाज के बाद 5 साल की बच्ची की मौत, डॉक्टरों ने पेट दर्द का लगाया था इंजेक्शन

यह भी पढ़ें: खेलेगा इंडिया तभी तो आगे बढ़ेगा इंडिया मुहिम को आगे बढ़ाता वैंडी स्कूल

बता दें कि नासा ने 30 सितंबर 2019 तक अंतरिक्ष में दिलचस्पी रखने वाले लोगों से नाम मांगे थे। इन लोगों को बकायदा बाद में आनलाइन बोर्डिंग पास दिए गए। शिवानी मिश्र एमबीपीजी से भौतिक विज्ञान में शोध कर रही हैं तथा हिमानी मिश्र महिला महाविद्यालय से भौतिक विज्ञान में एमएससी कर रही हैं। अहम बात यह है कि यह चिप अब हमेशा के लिए मंगल पर रहेगी। इसलिए अब इन दोनों बेटियों के नाम भी वहां पर हमेशा रहेंगे। बता दें कि नासा का मंगल मिशन जुलाई 2020 में लांच किया गया था।

नासा द्वारा यह यान इसलिए भेजा गया है ताकि मंगल ग्रह पर हरेक तरह की संभावनाओं को खोजा जाए। क्या वहां ज़िंदगी संभव है ? क्या कभी वहां पर जीवन था ? इन्हीं सब सवालों के जवाब ढूंढने के लिए नासा का रोवर मंगल पर खुदाई करेगा और वहां की मिट्टी इकठ्ठी करेगा। लिहाजा मिट्टी को वहीं पर छोड़ दिया जाएगा। भविष्य में जाने वाला एयरक्राफ्ट इस सैंपल को धरती पर लेकर आएगा।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड की लक्की राणा ने यूरोप में जीता पदक, पिता हल्द्वानी में चलाते हैं बस

यह भी पढ़ें: हरिद्वार कुंभ के चलते हल्द्वानी ट्रैफिक पुलिस पर बढ़ेगा भार, SSP को लिखा पत्र

विज्ञान को करीब से जानने वाली छात्राएं शिवानी और हिमानी दोनों बहनें हैं। दोनों को भरोसा है कि इसरो भी बहुत जल्द मानवयुक्त यान मंगल पर भेजेगा। उन्होंने कहा अब भारत को विज्ञान गुरू होने की दिशा में कदम बढ़ाने हैं।

कैलीफोर्निया स्थित नासा के जेट प्रोपल्शन लैबोरेटरी के ब्रूस बैनर्ड ने जानकारी दी। उन्होंने कहा कि मंगल ग्रह अंतरिक्ष में रुचि रखने वालों को खासा रोमांचित करता है। यह मौका उन्हें उस अंतरिक्ष यान का हिस्सा बनने का मौका देगा जो मंगल ग्रह के बारे में अध्ययन करेगा।

यह भी पढ़ें: सीएम त्रिवेंद्र ने हल की हल्द्वानी गौजाजाली स्कूल की परेशानी, बच्चों को पढ़ाई के लिए मिल गई छत

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी:अधिभार राशि में मिल रही है शत प्रतिशत छूट,18 मई तक जमा करें अपना बिजली का बिल

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now