भाजपा ने हरभजन से किया सम्पर्क , भज्जी बोले टाइम नहीं है !

नई दिल्लीः लोकसभा की तिथि आने से हर एक पार्टी अपने को मजबूत करने के लिए अपना-अपना गणित लगाने में लगी हुई है। जहां पार्टी अपने किसी भी नेता को दूसरी तरफ नहीं जाने दे रही है तो वही दूसरी पार्टी के नेता को भी अपनी और लाना एक अहम जिम्मेदारी बनती दिख रही है। लोकसभा में सबसे बड़ी पार्टी भाजपा में जहां हर तरफ सीट के लिए भाजपा के नेता जोर लगा रहें है। तो वही एक ऐसी भी सीट है। जहां भाजपा को मजबूत दावेदार नहीं मिल रहा है। यह सीट है तीन बार लोकसभा सांसद रहे नवजोत सिंह सिद्धू की जो अमृतसर से भाजपा के टिकट पर यहां 3 बार सांसद रहे। इस सीट पर भाजपा को कोई मजबूत दावेदार नहीं मिल रहा है। जिस पर भाजपा  सबसे बड़ा दाव खेलने की सोच रही है। जानकारों की माने तो भाजपा ने भारत के क्रिकेटर हरभजन सिंह को अपने पाले में लाने की सोच रही है। भाजपा क्रिकेटर हरभजन सिंह को अमृतसर सीट से लोकसभा का चुनाव लड़ाना चाह रही है।  भाजपा का कहना है कि इस बारे में भज्जी से बात चल रही है। फिलहाल  बुधवार तक वह भारत और ऑस्ट्रेलिया वनडे मैच की कमेंटरी में बिजी थे।  पर अब उनसे इस बारे में स्पष्ट बात करी जायेगी। फिलहाल हरभजन ने भाजपा के टिकट की बात को स्वीकार किया है और साथ ही भज्जी की माने तो वह इस बारे में कुछ पक्का नहीं कह सकते , भज्जी का कहना है कि चुनाव लड़ने में अब समय भी कम है। उन्होंने कहा, मैं अभी तक भाजपा के किसी टॉप नेता से नहीं मिला हूं। 38 वर्षीय हरभजन सिंह टेस्ट क्रिकेट में श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरण के बाद दूसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं। अगर भज्जी भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ते है तो अमृतसर की सीट हॉट सीट हो सकती है। इस से पहले केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 2014 में यहां से चुनाव लड़ा था और वह कैप्टन अमरिंदर सिंह से हार गये थे। इस के बाद 2019 में यह सीट भाजपा की नाक बचाने वाली हो गई है। और भाजपा जानती है कि सिद्धू के बाद हरभजन सिंह यहां सबसे लोकप्रिय चेहरा हैं। ऐसे में पार्टी को लगता है कि हरभजन सिंह का स्टार टैग पंजाब में सत्ताधारी पार्टी कांग्रेस को दरकिनार करने में मदद करेगा। काग्रेंस के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह यहां से चुनाव लड़ने से इनकार कर चुके हैं।