हल्द्वानी लाइव: नैनीताल बैंक के लॉकर से 40 लाख के गहने गायब

काशीपुर: अगर आप भी बैंक के लॉकर में अपना कीमती समान रखते हैं तो हो जाइए सावधान…लोगों को जहां बैंक लॉकर पर पूरा भरोसा होता है, वही बीते कुछ समय से बैंक के लॉकर से लोगों के कीमती सामान गायब होने के मामले थमने का नाम नही ले रहें हैं। ऐसा ही एक मामला काशीपुर के कविनगर से सामने आया। सुमन नाम की महिला के नैनीताल बैंक के लॉकर से 40 लाख रुपये के जेवरात गायब हो गए। आरोप है कि लॉकर की चाबी खो जाने पर बैंक कर्मियों ने सुमन को बैंक में बुलाया। जहां लॉकर को खोलने पर उसमें रखे जेवरात गायब मिले।

बता दें कि सुमन नेगी पत्नी पंकज नेगी का एक जॉइंट बचत खाता रामनगर रोड स्थित नैनीताल बैंक की शाखा में है, जिसका लॉकर संख्या 121 सुमन के नाम से आवंटित है। जो कि 15 साल से चल रहा है। सुमन ने बताया कि  23 मई को बैंक से मिली चाबी कहीं खो गई थी। जिसके बाद अगले दिन 24 मई को बैंक ने सुमन से चाबी खोने के मामले में एक शपथ पत्र भरवाया और बैंक ने सुमन को बताया कि दो-तीन दिन में सुमन को डुप्लीकेट चाबी दे दी जाएगी।  4 जून को बैंक ने उसे फोन कर बैंक आने को कहा। जब सुमन बैंक पहुंची तो उसे चाबी न देकर मैनेजर के सामने लॉकर खोला गया। लॉकर खोलने पर सुमन के होश उड़ गए। लॉकर पूरी तरह खाली था।मामले की सूचना पुलिस को दे दी गई। सुमन ने पुलिस को बताया कि बैंक कर्मियों ने जबरदस्ती उससे शपथपत्र पर यह लिखवाया गया कि उनके सामने लॉकर खोला गया है। उसमें कोई सामान नहीं है। आरोप है कि कुछ देर बाद बैंक कर्मियों ने शपथ-पत्र में सुमन से लॉकर खोलने की जगह लॉकर तोड़ने के बारे में लिखवाया। सुमन ने पुलिस को बताया कि लॉकर में सोने के दो हार, सोने की दो अंगूठी, एक हजारा पायल, चांदी की दो कटोरी, सोने के छह कड़े, एक मंगलसूत्र, एक नथनी, चार झुमके, सोने की दो चैन रखवाया था। उसने बताया कि सभी जेवरात करीब 35 साल पुराने है। जिनकी आज के समय में कीमत करीब 40 लाख रुपये तक है।पूरे मामले की जानकारी के लिए जब बैंक मैनेजर एके अग्रवाल से पूछा गया तो उन्होंने आउट ऑफ स्टेशन होने की बात कहकर ऑपरेशन मैनेजर गौरव जोशी से जानकारी लेने की बात कही। गौरव ने उनसे कहा कि  लॉकर की जिम्मेदारी ग्राहक की होती है। जिसके बाद उन्होंने बैंक मैनेजर की अनुपस्थिति बताकर ऑफिशियल वर्जन देने से मना कर दिया। पीड़िता की तहरीर पर पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। और पता लगा रही है कि यह चोरी का मामला है या बैंक की गलती है।

WARTS की परेशानी मिलेगा निजात, जरूर देखे साहस होम्योपैथिक टिप्स