हल्द्वानीः स्कूल में छात्रा की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत, ई रिक्शे में ले गए शव

हल्द्वानीः शहर में मंगलवार को तब सनसनी फैल गई जब कालाढूंगी रोड स्थित जीजीआईसी में 10वीं की छात्रा की संदिग्ध परिस्थितियों की मौत हो गई। उसके मुंह से झाग निकल रहा था। उसके जहर खाकर जान देने की आशंका जताई जा रही है। ऐसी बात भी कही जा रही है कि दो शिक्षिकाओं ने शनिवार को उसकी पिटाई कर दी थी। इस वजह से वह टेंशन में थी।

बता दें कि अल्मोड़ा जिले के कोसी कटारमल निवासी नंदन सिंह बिष्ट की 16 साल की बेटी रितु जीजीआईसी में हाईस्कूल की छात्रा थी। वह गैस गोदाम रोड हरिपुर नायक स्थित अपनी बुआ के घर में रहती थी। मंगलवार की सुबह आठ बजे वह स्कूल पहुंची और पेट दर्द की बात कहकर टेबल पर सो गई। छात्राओं और शिक्षिकाओं ने देखा कि उसके मुंह से झाग निकल रहा है और उल्टी भी हो रही हैं। इसके बाद शिक्षिकाएं तुरंत साइकिल पार्ट्स की दुकान करने वाले उसके परिचित त्रिलोक भट्ट के पास गई और उसे इस बारे में बताया। इसी बीच प्रधानाचार्या उसे बेस अस्पताल ले गईं, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

त्रिलोक भट्ट का कहना है कि रितु की बड़ी बहन ललिता बिष्ट उनके घर रहकर कंप्यूटर का कोर्स कर रही है। रितु की मां नहीं है। बड़ा भाई विक्की अपने पिता के साथ गांव में रहता है। फुफेरे भाई सोबन सिंह का कहना है कि उसने घर में कोई परेशानी नहीं बताई थी। वहीं रितु की मौत के बाद जीजीआईसी की कई छात्राएं अस्पताल पहुंची। और उन्होनें शिक्षिकाओं के प्रति गुस्सा जाहिर किया। छात्राओं का आरोप था कि रितु शनिवार को खेलने के लिए जा रही थी। इसी बीच दो शिक्षिकाओं ने उसे डांट दिया और पढ़ाई करने की सलाह दी थी।

जीजीआईसी की प्रधानाचार्या देवकी आर्या का कहना है कि रितु की मौत के कारणों का पता नहीं चल सका है। आजकल शहर में डेंगू की बीमारी में भी उल्टी हो रही है। वहीं मृतक के परिवार में कोहराम मच गया है।

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंडः 850 रुपये के विवाद में युवक की हत्या, कुल्हाड़ी से काट कर किए टुकड़े

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंडः प्रेमी जोड़े की बेरहमी से कर डाली पिटाई, शरीर पर गहरे घाव के निशान

यह भी पढ़ेंः इंसानियत शर्मसार, पिता की सहमति से, 12 साल की बच्ची से 30 लोगों ने किया दुष्कर्म

यह भी पढ़ेंः नैनीतालः महिला की बेरहमी से हत्या, पहले पेट फाड़ा, फिर पत्थर से चेहरा भी कुचला

photo source- amar ujala