हल्द्वानी में फंसे लोगों को 10 बसों से पहुंचाया गया घर,लोग बोले Thank you

हल्द्वानीः भारत में लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ाया गया है। लॉकडाउन के वजह से कई लोग अपने घरों से दूर फंसे हुए हैं। वहीं हल्द्वानी शहर में कई लोग लॉकडाउन के दौरान फंसे हुए हैं। शेल्टर होम में रोके गए कई लोगों को बुधवार को बसों से घर भेज दिया गया। लेकिन कुछ लोग अभी यहीं रह गए हैं। इनको यहां क्वारंटीन पर रहने की बात कहकर रोका गया था।

बता दें कि प्रशासन ने केमू और निजी बसों से बदरीपुरा स्टेडियम और एमबी इंटर कॉलेज से 250 से अधिक लोगों को घर भेजा। ये लोग अब तक सभी स्वास्थ्य परीक्षणों में पास हुए थे। इनमें पिथौरागढ़ को तीन, बागेश्वर को छह और चंपावत जिले को एक बस भेजी गईं। जिन लोगों को घर भेजा जाना था उन्हें मंगलवार देर रात सूचना दे दी गई थी। लेकिन अभी उत्तर प्रदेश को जाने वालें लोगों को रोका गया है। हल्द्वानी और आसपास के शेल्टर होम में 200 लोग रह गए हैं।

स्टेडियम में लोगों की काउंसलिंग कर रहीं सुनयना बिष्ट का कहना है कि कई लोग काफी गुस्से में हैं। सुनयना ने बताया कि शुरू में इन लोगों की समझ में ही नहीं आ रहा था कि उन्हें यहां क्यों रोका है। वो सोचते थे कि उन्हें कोरोना हो गया है। यहां कई महिलाएं भी थीं। बहुत से लोग कम पढ़े लिखे और गरीब तबके के थे। सुनयना रोज इनकी काउंसलिंग कर रही हैं। इसके अलावा कई लोग ऐसे हैं जिनका 14 दिन का क्वारंटीन पूरा नहीं हुआ है। क्वारंटीन पूरा होने और स्वास्थ्य जांच के बाद ही कोई निर्णय लिया जाएगा।

pc-mh7news.online

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now