हल्द्वानी उत्तरायणी महोत्सव: 37 वर्षो से पर्वतीय सांस्कृतिक उत्थान मंच सीखा रहा अपनी संस्कृति

91

हल्द्वानीः उत्तराखंड की पहचान बनते जा रही उत्तरायणी महोत्सव को आज हर जिलें मे कराया जा रहा है । घुघुतिया त्योहार के आते ही उत्तरायणी महोत्सव की धूम पूरे उत्तराखंड में मचनी शुरू हो जाती है । उत्तरायणी महोत्सव में कई गांव के लोग दूर दूर से आते है इसके अलावा कई लोग उत्तराखंड के बाहर से भी आते हैं ।
हल्द्वानी में भी कई वर्षो से उत्तरायणी महोत्सव मनाया जा रहा है। हल्द्वानी के पर्वतीय सांस्कृतिक उत्थान मंच में कई वर्षो से संस्कृतिक कार्यक्रम कराये जा रहे है । जिसमें कई प्रतियोगिताएं और कार्यक्रम कराए जाते हैं । पर्वतीय सांस्कृतिक उत्थान मंच कई जगह से पहाड़ी संगीतकार आते है और साथ ही हल्द्वानी का उत्तरायणी महोत्सव कई लोगो का रोजगार का जरिया भी बनता है, जिसमें पहाड़ी नूण और नींबू का संसना मुख्य बिकने के साधन माने जाते है । कई लोग सामान और पहाड़ी गर्म कपड़ों की खरीदारी करते हैं ।
हल्द्वानी उत्तरायणी महोत्सव में 8 जनवरी से 15 जनवरी तक कार्यक्रम कराए जाते है, जिसमें 14 जनवरी को शोभा यात्रा कराई जाती है । शोभा यात्रा में कई प्रकार की झाकियां निकाली जाती हैं। पर्वतीय सांस्कृतिक उत्थान मंच की शोभा यात्रा में पूरे जिले से झाकियां आती हैं । दरअसल 14 जनवरी 1982 को उत्थान मंच की स्थापना हुई थी, जिसके बाद से लगातार 37 वर्षो से उत्थान मंच में संस्कृतिक कार्यक्रम कराए जा रहे हैं ।