भीमताल हादसा, गरुड़ताल में डूबने से बीटेक के दो छात्रों की मौत

हल्द्वानीः राज्य में छात्रों के नदी में डूबने के मामले थमने का नाम नही ले रहे हैं। छात्र मस्ती के लिए नदी में तेरने जाते हैं और एडवेंचर करने के चक्कर में डूब जाते हैं। जहां कुछ नया कर गुजरने की चाह रखने वाले छात्र नदी में तैरने तो जाते है  लेकिन उनको इसका बड़ा खामियाज़ा भूगतना पड़ता है। ऐसा ही एक मामला भीमताल से सामने आ रहा है जहां गरुड़ताल घूमने गए एक निजी विश्वविद्यालय के बीटेक अंतिम वर्ष के छह छात्रों में से दो छात्र शनिवार को ताल में डूब गए थे।
बता दें कि  बीटेक इलेक्ट्रॉनिक्स के अंतिम वर्ष के छात्र अक्षय दरम्वाल (24) पुत्र राजेंद्र दरम्वाल निवासी ग्राम हल्दूपोखरा, आनंदपुर रामपुर रोड हल्द्वानी और कंप्यूटर साइंस के अंतिम वर्ष के छात्र रितेश वर्मा (25) पुत्र हरीश लाल वर्मा निवासी थाना कोतवाली के पास पिथौरागढ़ शनिवार दोपहर अपने चार दोस्तों नितिन अधाना, रोहित भट्ट, दिनेश नगरकोटी, रजत सिंह चौहान के साथ आउट पास लेकर गरुड़ताल घूमने गए थे। जिसके कुछ देर बाद सभी दोस्त ताल में नहाने लग गए। इसके कुछ ही देर में अक्षय दरम्वाल और रितेश वर्मा मस्ती करते ताल के बीच पहुंच गए, जहां पानी गहरा होने के कारण दोनों ताल में डूब गए। दोनों को डूबता देख दोस्तों ने उनकी मदद करनी चाही लकिन असफल रहे।
 मामले के बाद शनिवार शाम छह बजे चारों छात्र विश्वविद्यालय के निदेशक के पास पहुंचे और उन्हें अक्षय, रितेश के डूबने की सूचना दे दी। जिसके बाद तुरंत यह सूचना भीमताल पुलिस को दी गई। प्रबंधन ने ताल में डूबे हुए दोनों छात्रों के परिवारवालों को सूचना दे दी है। विश्वविद्यालय के निदेशक ने बताया कि गरुड़ताल में डूबे हुए अक्षय दरम्वाल और रितेश वर्मा का बीटेक पूरा हो चुका है। शनिवार को दोनों छात्रों ने नोड्यूज फार्म भी जमा कर दिया था। दोनों छात्रों ने अपने अन्य चार छात्रों के साथ घूमने के लिए आउट पास लिया था।
 थानाध्यक्ष प्रमोद पाठक का कहना है कि डूबे दोनों छात्रों का शनिवार को कहीं पता नहीं चल पाया था। रविवार को सुबह एसडीआरएफ की टीम ने उनकी तलाश की और दोनों के शव बरामद कर लिए। वहीं पुलिस ने ताल के पास से बियर कि बोतलें भी बरामद की है। बेटों की मौत की खबर मिलते ही दोनों परिवारों में कोहराम मच गया है। वहीं छात्रों के परिवारवालों ने अन्य चार छात्रों पर दोनों की हत्या का आरोप लगाया है।