एक बार फिर PUBG ने ली युवक की जान,चिल्लाया ‘ब्लास्ट कर’ और हो गई मौत

नई दिल्लीः ऑनलाइन गेम PUBG इस समय पूरी दुनिया में पाप्यूलर हो चुका है। इस गेम का एडिक्सन लगभग सभी लोगों को हो गया है। कुछ ही समय में PUBG ने बड़ों से लेकर बच्चों तक अपनी एक खास जग़ह बना ली है। गेम का एडिक्सन इस कदर बढ़ चुका है कि आए दिन हैरान करने वाले मामले सामने आ रहें है। यह गेम इतना ज्यादा एडिक्टड है जो भी इस गेम को खेलना शुरु करता है वो इसे हर समय खेले बिना रह नहीं सकता। ये गेम युवाओं में काफी चर्चा में है। नए-नए अपडेट्स के साथ गेम में नई-नई चीजें आ रही हैं जो लोगों को खेलने के लिए उत्साहित कर रही हैं। PUBG गेम की लत के कारण आए दिन हादसों की ख़बरें सामने आ रही हैं।बिते दिन ऐसा ही एक दिल दहला देने वाला मामला मध्य प्रदेश के नीमच से सामने आया है। जहां मोबाईल फोन पर लगातार छह घंटे तक पब्जी गेम खेलने और इसमें हारने के बाद दिल का दौरा पड़ने से 16 वर्ष के एक युवक की मौत हो गयी। युवक के पिता हारुन कुरैशी ने बताया कि उनका बेटा फुरकान 26 मई की रात को दो बजे तक पब्जी गेम खेल रहा था, फिर 27 मई को सुबह उठकर वह लगातार छह घंटे तक यह गेम खेलता रहा और बाद में ‘ब्लास्ट कर, ‘ब्लास्ट कर चिल्लाने लगा और उसके बाद अचानक वह बेहोश हो गया।पिता ने बताया कि वह अजमेर के निकट नसीराबाद में रहते हैं और परिवार के साथ नीमच में एक सगाई में शामिल होने आये थे, तभी यह घटना हुई। नीमच के हृदय रोग चिकित्सक डॉ अशोक जैन ने कहा कि दिल का दौरा पड़ने के बाद युवक को नर्सिंग होम लाया गया। लेकिन यहां आने से पहले ही उसकी हृदय गति बंद हो चुकी थी। उन्होंने बताया कि फिर भी युवक को इलेक्ट्रिक शॉक दिया गया और दिल की पम्पिंग शुरु करने का इंजेक्शन भी दिया गया, लेकिन युवक की मौत हो चुकी थी।]कोतवाली पुलिस थाने के प्रभारी निरीक्षक ने कहा कि परिवारवालों की तरफ से इस मामले में पुलिस को कोई सूचना नहीं दी गयी है। कि युवक की मौत किसी गेम की वजह से हुई है। इसलिए पुलिस इस मामले में किसी प्रकार की जांच नहीं कर रही है।

WARTS की परेशानी मिलेगा निजात, जरूर देखे साहस होम्योपैथिक टिप्स

बता दें, PUBG दुनिया का पांचवां सबसे ज्यादा बिकने वाला गेम है। PUBG का क्रेज भारत ही नहीं पूरी दुनिया पर छाया हुआ है। PUBG मोबाइल चीन में 9 फरवरी 2018 और पूरी दुनिया में 18 मार्च 2018 को लॉन्च किया गया था। देखते ही देखते ये गेम लोगों के बीच पाप्युलर हो गया। करीब 20 करोड़ से ज्यादा लोग इस गेम को डाउनलोड कर चुके हैं। भारत में इस गेम को खेलने वालों की संख्या दिन पर दिन बढ़ती जा रही है। पिछले साल ही विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने गेम खेलने की लत को मानसिक रोग की श्रेणी में शामिल किया है, जिसे ‘गेमिंग डिसऑर्डर’ नाम दिया गया है। PUBG को सींगल या दोस्तों के साथ टीम बना कर भी खेला जा सकता है। आपको एक हवाई जहाज़ के द्वारा टापू पर पैराशूट के द्वारा उतार दिया जाता है। जिसमें Total 100 खिलाड़ी होते है। इन 100 खिलाड़ियों से लड़कर आख़िरी तक आपको बचना होता है। जो व्यक्ति आख़िरी तक बच जाता है उसे विजेता माना जाता है। इसी तापू के घरों में से आपको जरुरत की सभी चीजों को इकट्ठा करना होता है।