इमरान खान की चिट्ठी का पीएम मोदी ने दिया करारा जवाब, जानिए

नई दिल्लीः पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पीएम मोदी को चिट्ठी के जरिए जो बधाई संदेश भेजा था उसपर पीएम मोदी की तरफ से जवाब दिया गया है। इस चिट्ठी में पीएम मोदी ने कहा है कि बात तभी होगी जब पाकिस्तान आतंक का साथ छो़ड़ेगा।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान और विदेश मंत्री एफएम कुरैशी के बधाई संदेश का जवाब दिया है। इस जवाब में पीएम मोदी ने पाक पीएम इमरान खान को साफ शब्दों में कहा है कि, ‘दोनों के बीच एक अनुकूल वातारण बनाने पर पुनर्विचार करना चाहिए, जो आतंक का रास्ता छोड़ने के बाद ही संभव है।’

मोदी की बातों से साफ है कि अब वो पाकिस्तान से कोई भी बात तभी करेंगे जब पाक आतंक का रास्ता छोड़ेगा। गौरतलब है कि इमरान खान को भेजे गए मोदी के पत्र में आतंक मुक्त माहौल का जिक्र है लेकिन दोनों मुल्कों के बीच बातचीत कब शुरू होगी, इस पर कोई फैसला नहीं लिया गया है।

WARTS की परेशानी मिलेगा निजात, जरूर देखे साहस होम्योपैथिक टिप्स

पत्र में भारत की तरफ से ये भी जोर दिया गया है कि, भारत अपने सभी पड़ोसी देशों के साथ बेहतर संबंध चाहता है। क्षेत्र में विकास के लिए शांति और स्थिरता जरूरी है। भारत के लिए, प्राथमिकता हमेशा जनता का विकास रही है। बता दें कि इसी साल फरवरी में पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर हुए आतंकी हमले के बाद भारत-पाकिस्तान के संबंधों में कड़वाहट पैदा हो गई थी।

यह भी पढ़ें:कैसे सामने आई नैनीताल की खूबसूरती, किसे जाता है इसका श्रेय, जानें

यह भी पढ़ें:BCCI की उत्तराखण्ड में बैठक खत्म, अब उत्तराखण्ड क्रिकेट पर होगा फैसला

यह भी पढ़ें:ओम बिड़ला के लोकसभा स्पीकर बनते ही मोदी ने किया कुछ ऐसा,देख कर रह जाएंगे दंग

यह भी पढ़ें:सीएम रावतः पलायन रोकने के लिए लोगों को स्वरोजगार उपलब्ध कराना ही प्राथमिकता

यह भी पढ़ें:ब्रेकिंग न्यूज: चोट के चलते शिखर धवन विश्वकप से बाहर, पंत टीम में शामिल

यह भी पढ़ें:यूपी के संभल में दर्दनाक सड़क हादसे में दो बच्चों समेत 8 की मौत,12 घायल

यह भी पढ़ें:पिता ने बेटी से करना चाहा बलात्कार, तो बेटी ने कुदाल से पिता को उतारा मौत के घाट

यह भी पढ़ें:सावधान! हल्द्वानी में PAYTM के जरिए हो रहा है फर्जीवाड़ा, ऐसे करें पहचान

पिता ने बेटी से करना चाहा बलात्कार, तो बेटी ने कुदाल से पिता को उतारा मौत के घाट