एक बार फिर फिसली कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की जुबान , राजस्थान के स्वतंत्रता सेनानी को कहा कुंभकरण

44

राजस्थान:विधानसभा चुनाव अब अपने अंतिम चरणो में पहुँच गया है । चुनाव प्रचार में सभी पार्टियां दमखम दिखा रही है । रिकॉर्ड रैलियां कर चुनावी हवा को अपनी ओर करने की कोशिश की जा रही है।

अपने बयाने के कारण चर्चा में रहने वाले कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी एक बार फिर सुर्खियों में है। चुनाव प्रचार व लोगों को संबोधित करते हुए उनकी जुबान कई बार फिसली है जिसका सोशल मीडिया पर खूब मजाक बनाया जाता है।

एक बार फिर कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी चर्चाओं में है । इस बार झुझुंन विधानसभा क्षेत्र की प्रचार रैली में मजाक का माहौल तब हो गया जब रैली के दौरान कुंभाराम के स्थान पर कुंभकरण बोल गये,जिसका सोशल मीडिया में जमकर मजाक बनाया जा रहा है ।

दरअसल, कुंभाराम राजस्थान की एक योजना का नाम है । जिसे कुंभाराम लिफ्ट योजना कहा जाता है। इस योजना का नाम कुंभाराम आर्य के नाम पर रखा गया । कुंभाराम राजस्थान के स्वतंत्रता सेनानी के रुप में जाने जाते है। कुंभाराम ने किसानों के हक के लिए कई आंदोलन करे ,तथा कुंभाराम बिकानेरी रियासत के सिपाई भी रहे ।

स्वंतत्रता के दौरान वे कई बार जेल भी गए। कुंभाराम की राजनीति में भी अच्छी पकड़ रही थी । वे बिकानेर रियासत में  रेवेन्यू मिनिस्टर बने। हालांकि करीब 6 महीने बाद उन्होंने मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया । राजस्थान के निर्माण के वक्त महाराजा सादुल सिंह की बीकानेर रियासत का  राजस्थान में विलय हो गया।लोकतंत्र आने के बाद भी उन्होंने तत्कालीन मुख्यमंत्री जयनारायण व्यास के साथ गृहमंत्री के रुप में काम किया। इसके आगामी चुनावों में भी उन्होंने मुख्य भूमिका निभाई कहा जाता है कि उन्होंने प्रदेश के कई मुख्यमंत्री बनाने में अहम भूमिका निभाई। कुंभाराम परियोजना के माध्यम से प्रदेश के मलसीसर, खेतड़ी, झुंझुनू, सीकर के साथ-साथ करीब 1400 गांवों को पानी दिया जाना है।इसकी कुल लागत 588 करोड़ रुपये बताई जा रही है।