पहाड़ के बिष्ट जी के परिवार की बुयारी बनी रूस की एलेना

देहरादूनः उत्तराखंड में शादी का सीजन एक बार फिर से शुरू हो गया है। कोई बारात प्रदेश के बाहर जा रही है तो कोई प्रदेश में बारात लेकर आ रहा है। इस बार पहाड़ में हुई एक शादी सुर्खियों का विषय बन गई है,जहां दुबई करने गए पहाड़ के युवक को विदेशी लड़की से प्यार हुआ और दोनों ने इस रिश्ते को शादी में तब्दील करने का फैसला किया।

होटल में काम करने वाले प्रभात बिष्ट को शायद ही पता होगा कि दुबई में जिस रूस की लड़की के साथ काम करते-करते शादी तक हो जायेगी। उत्तरकाशी का प्रभात और रूस की एलेना दुबई में एक ही होटल में काम करते थे जिनकी मुलाकात पहली बार 2016 में हुई थी। धीरे-धीरे दोनो में प्यार होने लगा पर दोनो ने ही शादी के लिए अपने-अपने परिवार से इजाज्त मांगी।

दोनो ने अपनी शादी को खास बनाने के लिए उत्तराखंड की पहाड़ी रिति-रिवाज से शादी करने का मन बनाया। उत्तरकाशी के रहने वाले प्रभात बिष्ट को पहाड़ी संस्कृति की पूरी जानकारी थी। रूस की एलेना के लिए यह सब नया था पहाड़ी रिवाज की जानकारी के लिए एलेना दो बार भारत आई। दोनों के परिवार की सहमति के बाद शादी 12 अप्रैल को तय की गई साथ ही दोनो परिवार नों ने यह भी तय किया की शादी पहाड़ी रिति-रिवाज से ही होगी।जिसके बाद एलेना अपने परिवार और दोस्तों के साथ उत्तरकाशी पहुंची। जहां अलग-अलग स्थानों में पहले दिन मेहंदी की रस्म हुई। और बैसाखी पर्व के दिन काशी विश्वनाथ मंदिर में रूस की दुल्हन और पहाड़ के दुल्हे ने सात फैरे लिए। पहाड़ी रिति रिवाज की यह शादी काफी सादगी से हुई। शादी के बाद दोनों नवदंपती ने बाबा विश्वनाथ का आशीर्वाद लिया। शादी में एलेना की मां वीरा वेलचावर और पिता एवजिनी वेलचावर का साथ शादी में मात्र 50 लोग थे।