उत्तराखंडः कंडक्टर ने लगाया यात्रियों को चूना, ई मशीन और कैश लेकर हुआ फरार

हल्द्वानीः उत्तराखंड रोडवेज बसों में हो रहे लापरवाही के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। ऐसा ही एक मामला दिल्ली से रुद्रपुर जा रही उत्तराखंड रोडवेज बस का सामने आया है जहां उत्तराखंड रोडवेज की बस में अचानक चेकिंग हुई तो कंडक्टर भाग खड़ा हुआ। उत्तराखंड रोडवेज की बस में बिना टिकट सवारी पकड़ी गई तो कंडक्टर ई-टिकट मशीन और कैश लेकर भाग गया। बता दें कि कंडक्टर के पास फर्जी टिकट भी थे। मुख्यालय ने आरोपित को बर्खास्त कर दिया है और उसके खिलाफ थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है।
बता दें कि रुद्रपुर डिपो की बस (यूके07पीए-1488) देर रात दिल्ली से रुद्रपुर के लिए निकली। बस में कुल 32 सवारी थी। इस बस का कंडक्टर बिजेंद्र सिंह था। फ्लाइंग टीम को बीते कुछ समय से इस बस में लगातार बिना टिकट सवारी लेजाने की शिकायत मिल रही थी। उस मार्ग पर यूं तो हल्द्वानी डिपो की फ्लाइंग भी मौजूद रहती है, लेकिन कार्रवाई न होने पर मुख्यालय ने रुड़की डिपो की फ्लाइंग को बस चेक करने भेजा। फ्लाइंग टीम में टीआई ओमपाल सिंह ने इस बस को गाजियाबाद के डासना में चेक किया तो बस में 18 सवारी बिना टिकट पाए गए।
टीम ने जब बस सवार यात्रियों से पुछताछ की तो उन्होनें बताया कि उन्होनें कंडक्टर को पूरा किराया दिया था, लेकिन कंडक्टर ने उनका टिकट नहीं बनाया था। टिकतों की हेरफेर का करीब 3885 रुपए का फर्जीवाड़ा पकड़ा गया है। जब टीम ने कंडक्टर से पूछताछ की तो कंडक्टर के पास से फर्जी टिकट भी बरामद हुए। इसके बाद कंडक्टर टिकट मशीन और कैश बैग लेकर वहां से भाग गया। जिसके बाद फ्लाइंग टीम ने रोडवेज मुख्यालय को इस मामले की रिपोर्ट भेज दी।
रुद्रपुर एजीएम महेंद्र कुमार ने आरोपित कंडक्टर के खिलाफ डासना थाने में टिकट मशीन व कैश लेकर भागने और फर्जी टिकट पकड़े जाने का मुकदमा कराया है। आरोपित कंडक्टर को बर्खास्त कर दिया गया है। बता दें कि आरोपित परिचालक बिजेंद्र सिंह रुद्रपुर डिपो के एक अफसर का काफी करीबी था। जिसकी वजह से वह अकसर बच जाता था। वहीं पुलिस आरोपि की तलाश में जुट गई है। बस में गजरौला, बिलासपुर, काशीपुर के यात्री शामिल थे।