पुल के नीचे छोड़ गया गर्भवती महिला, एनजीओ ने बढ़ाए मदद के हाथ

देहरादूनः देवभूमि में एक बार फिर मानवता को शर्मशार कर देने वाला मामला सामने आया है। मामला देहरादून के सेलाकुई स्थित एक पुल का है जहां एक आदमी ने मानसिक रुप से दिव्यांग गर्भवती महिला को प्रसव पीड़ा में तड़पते हुए छोड़ दिया। पुल के नीचे तड़पती महिला को सोमवार रात को दून महिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।
मामला सोमवार का है जब कुछ लोगों ने सेलाकुई क्षेत्र में एक बरसाती नदी के पुल के नीचे तड़पती हुई महिला को देखा तो लोगों ने तुरंत एक एनजीओ को इस मामले की सूचना दी। जिसके बाद एनजीओ संचालिका पूजा बहुखंडी मौके पर पहुंची और उन्होंने एंबुलेंस को बुलाया,जिसके बाद पीड़िता को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने बिना पुलिस की जांच के महिला को भर्ती करने से मना कर दिया। डॉक्टरों के इस रवैया से पूजा सहित अन्य लोगों ने अस्पताल में हंगामा कर दिया। हंगामे के बाद पुलिस के अस्पताल पहुंचने पर महिला को भर्ती कराया गया।
चौकी प्रभारी पुष्पा आर्य का कहना है कि मामले के बाद महिला की जांच की गई जिसमें पता चला कि महिला का गर्भावस्था का समय पूरा हो गया है। देर रात तक चिकित्सकों ने उसके प्रसव की तैयारी शुरू कर दी। पुलिस व्यक्ति की खोज कर रही है जो महिला को क्षेत्र में लाया था।