मौसम विभाग ने जारी किया अलर्टः उत्तराखंड में भी कहर बरपा सकता है चक्रवात ‘वायु’

देहरादूनः चक्रवात ‘वायु’ का कहर अभी तक थमा नही हैं। चक्रवात ‘वायु’ ने रोद्र रूप अपना लिया है। अनुमान लगाया जा रहा है कि तूफान गुजरात के बाद उत्तराखंड में भी तबाही मचा सकता। मौसम विभाग के मुताबिक यह चक्रवात राज्य में भी अपना कहर बरपा सकता है। इसके चलते राज्य के कई इलाकों में 17 और 18 जून को भारी बारिश हो सकती है। उत्तराखंड मौसम केंद्र निदेशक बिक्रम सिंह का कहना है कि राज्य में कहां-कहां बारिश हो सकती है। इसका अनुमान लगाया जा रहा है। इसके बाद ही अलर्ट जारी किया जाएगा। मौसम विभाग ने तूफान पर नजर बनाई हुई हैं।
मौसम विभाग का कहना है कि चक्रवात ‘वायु’ ने अपना रास्ता बदल लिया है और अब इसके गुजरात तट से तकराने की संभावना नही है। वहीं इसके चलते उत्तराखंड के कई तटीय जिलों में भारी बारिश और अंधड़ होने की आशंका है। वहीं
पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिव एम राजीवन ने कहा, ‘वायु’ की तट से टकराने की संभावना नहीं है। यह केवल तट के किनारे से गुजरेगा। इसके रास्ते में थोड़ा ही बदलाव आया है। लेकिन इसका प्रभाव भी पड़ेगा, इसके चलते तेज हवाएं चलेंगी और भारी बारिश होगी।
बता दें कि तूफान का मध्य भाग गुजरात तट से थोड़ा दूर हो गया है, लेकिन इसका व्यास 900 किलोमीटर से अधिक है। तेज हवाओं, धूल भरी आंधी और बारिश का खतरा अभी भी बना हुआ है। चक्रवात के कारण गुजरात में रेलवे ने 77 ट्रेन रद्द कर दी हैं। वहीं 33 अन्य ट्रेन भी रोक दी गई हैं। बता दें कि बुधवार को गृहमंत्रालय ने गुजरात के दस जिलों में अलर्ट जारी किया था। 
एनडीआरएफ की 52 टीमों को गुजरात भेजा गया है, जबकि सेना को स्टैंड बाय पर रखा गया है। तूफान से निपटने के लिए नौसेना के विमानों को तैयार रखा गया है। चक्रवात के चलते गृह सचिव राजीव गाबा की अध्यक्षता में राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में बचाव और राहत अभियान को लेकर बैठक की गई। मंत्रालय ने गुजरात और दमन द्वीव प्रशासन से लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने की बात करी है। वहीं मौसम विभाग ने उत्तराखंड में अलर्ट जारी कर दिया है।