सुशीला तिवारी हॉस्पिटल से फरार हुए आरोपी को पुलिस ने बेलबाबा मंदिर के पास पकड़ा

हल्द्वानी: शनिवार को पुलिस प्रशासन के पैर उस वक्त फूल गए थे, जब हत्या के आरोप में गिरफ्तार हुआ एक शख्स सुशीला तिवारी हॉस्पिटल से फरार हो गया था। उसे सितारगंज से हल्द्वानी कोरोना वायरस की जांच के लिए लाया गया था। हालांकि रात में पुलिस ने उसे पकड़ लिया है।

शनिवार को हत्यारोपी विप्लव सरकार उर्फ रवि पुलिसकर्मियों को चकमा देकर शनिवार सुबह भाग गया। उसके हाथों में हथकड़ी लगी हुई थी। सितारगंज थाने के दो सिपाही संतोष कुमार और आदर्श कुमार ने शुक्रवार की शाम विप्लव को कोरोना टेस्ट के लिए सुशीला तिवारी अस्पताल में भर्ती कराया था। उसे वार्ड बी में रखा गया था। शनिवार की सुबह पौने छह बजे सिपाहियों ने देखा कि विप्लव बेड पर नहीं मिला। इसके बाद कोतवाली में मामले की सूचना दी गई।

पुलिस ने सीसीटीवी चैक किए तो आरोपी वार्ड बी के पिछले दरवाजे से सुबह पांच बजकर 13 मिनट पर निकलता हुआ दिखाई दिया। इस रास्ते का इस्तेमाल सफाई कर्मचारी ही करते हैं। वह दीवार कूदकर भागा। पुलिस की टीम उसकी खोज में जुटी और 17 घंटे बाद उसे रामपुर रोड स्थित बेलबाबा मंदिर के पास से पकड़ लिया गया। आरोपी ने बताया कि सतवाल पेट्रोल पंप से ओपन यूनिवर्सिटी से सटे जंगल में घुस गया था। एसपी सिटी अमित श्रीवास्तव ने बताया कि उसने तीन बार निकलने की कोशिश की लेकिन पकड़े जाने के डर से अंदर बैठा रहा। अंधेरा होने पर वह रुद्रपुर जाने के फिराक में था।

हत्या का मामला दर्ज है-

विप्लव सरकार उर्फ रवि के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज है। उसने अपने रिश्तेदार सुशांत सरकार की हत्या कर दी थी। शक्तिफार्म सूखी नदी में हत्या को अंजाम देने के बाद वह नैनीताल की तरफ भाग रहा था लेकिन पकड़े जाने के डर से वह रानीबाग से मुड़कर गांव के रास्तों से होकर रुद्रपुर की तरफ चला गया। इसके बाद उसे सितारगंज पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now