हल्द्वानी में अस्पताल के बाद आमोर होटल हुआ सील, विवाद की जड़ है लोन

हल्द्वानीः शहर के एक मशहूर होटल को सील कर दिया गया है। यूनाईटेड बैंक ऑफ इंडिया दिल्ली ने बैंक लोन की किस्त जमा नहीं करने पर सोमवार को रामपुर रोड स्थित आमोर होटल को सील कर दिया। बैंककर्मियों का कहना है कि होटल स्वामी किस्त जमा कर देगा तो वह सील खोल दी जाएगी।

बता दें कि आमोर होटल मालिक मोहित नेगी ने साल 2011 में यूनाईटेड बैंक ऑफ इंडिया दिल्ली से छह करोड़ रुपये का लोन लिया था। बताया जा रहा है कि 2015 में लोन की किस्त सही ढंग से जमा नहीं कर पाए। जिसके बाद से कार्यवाही शुरू हो गई थी। बैंक की शिकायत के बाद 2017 में डीएम ने कब्जा लेने की अनुमति दे दी थी। बैंककर्मी होटल में कब्जा लेने पहुंचे थे, लेकिन होटल के मालिक ने कुछ किस्त जमा कर दी थीं। इसके बाद टीम वापस लौट गई थी। दिल्ली के कनॉट प्लेस सर्किल के यूनाईटेड बैंक ऑफ इंडिया के रिकवरी ऑफिसर संजय शर्मा का कहना है कि एक हफ्ते पहले होटल स्वामी को नोटिस दे दिया गया था। साथ ही होटल के बाहर भी नोटिस लगा दिया गया था। इसके बावजूद भी होटल मालिक ने किस्त जमा नहीं की।

होटल मालिक पर बैंक का 7 करोड़ 75 लाख 54 हजार 120 रुपये का बकाया है। इसके चलते सोमवार को बैंक की टीम ने स्थानीय पुलिस फोर्स के साथ होटल को सील कर दिया है। इस दौरान हल्द्वानी कोतवाल संजय कुमार, लालकुआं कोतवाल, टीपी नगर चौकी प्रभारी राहुल राठी समते करीब 20 से अधिक बैंक के अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे। इस बीच बैंककर्मियों और होटल मालिक के बीच थोड़ी नोकझोंक भी हुई। लेकिन बैंककर्मियों ने होटल को कब्जे में ले लिया।