हल्द्वानी में डेंगू का कोहरामः सीए के छात्र ने अस्पताल में तोड़ा दम

हल्द्वानीः शहर में डेंगू के डंक का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। डेंगू के बुखार से आए दिन मौते सामने आ रही हैं। एक बार फिर डेगूं से एक सीए की मौत हो गई है। उसे बेड न होने की बात कहकर तीन दिन पहले एसटीएच से वापस भेज दिया था।

बता दें कि लाइन नंबर 17 गांधी नगर निवासी रवि पाल ने शहर के एक निजी संस्थान से सीए की पढ़ाई पुरी की। वह बरेली में सीए की प्रैक्टिस कर रहा था। रवि पाल को तेज बुखार था। रवि के चाचा बलवंत पाल का कहना है कि वही तीन दिन पहले नैनीताल रोड स्थित दो निजी अस्पतालों में रवि को ले कर गए थे। मगर अस्पताल ने बेड खाली ना होने की बात कही। इसके बाद वे सुशीला तिवारी अस्पताल गए लेकिन इमरजेंसी में मौजूद डॉक्टरों ने उनसे बेड ना होने की बात कही।

इसके बाद 18 सितंबर को रवि को विवेकानंद अस्पताल भर्ती कराया गया। एलाइजा जांच में पता चला कि रवि को डेंगू है। अस्पताल के प्रबंध निदेशक डॉक्टर महेश शर्मा का कहना है कि रवि की हालत गंभीर थी। उसका अंदर से खुन निकलने लग गया था। और दाहिनी ओर फेफडे में खून भर रहा था। इसके बाद गुरुवार को उसे हायर सेंटर रेफर किया गया। जब हालत ज्यादा बिगड़ने लगी तो गुरुवार की शाम को रवि को श्री राममूर्ति अस्पताल बरेली ले गए। जहां शुक्रवार सुबह इलाज के दौरान रवि की मौत हो गई। रवि की मौत के बाद परिवार में कोहराम मच गया है।

यह भी पढ़ेंः उत्तराखण्ड: पुलिस परेशान, सिर दर्द बनी FIR, लिखने में लगेगा एक हफ्ता

यह भी पढ़ेंः हल्द्वानी लाइवः फिर छाई CPU, पिकअप और पांच लाख रुपये

यह भी पढ़ेंः नैनीतालः बेटी ने की खुदकुशी, लेकिन घरवालों ने बेटी का शव लेने से किया इनकार

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंडः दवा लेकर लौट रही दादी और पोते को ट्रैक्टर ने कुचला, दादी की हुई मौत