डेंगू की चपेट में हल्द्वानी, बुधवार को 6 में पढ़ने वाले छात्र की मौत

हल्द्वानी: शहर में डेंगू ने आतंक मचाया हुआ है। सरकारी हॉस्पिटलों के अलावा निजी हॉस्पिटल भी मरीजों से पैक हैं। शहर के कई हिस्सों में फॉगिग भी की जा रही है। शहर में रोजाना 50-70 मरीजों में डेंगू की पुष्टि हो रही है और इन आंकड़ों ने प्रशासन को भी डराया हुआ है। बुधवार को डेंगू के चलते एक छात्र की मौत हो गई। छात्र का तीन दिन से बेस हॉस्पिटल में इलाज चल रहा था।

खबर के अनुसार वार्ड नंबर 33 इंदिरानगर के रहने वाले फाजिल को बुखार था। परिजनों ने नौ सितंबर को उसे बेस अस्पताल में भर्ती किया था। जांच की गई तो सामने आया कि वो डेंगू से ग्रस्त है। बुधवार सुबह फाजिल की तबीयत ज्यादा बिगड़ने लगी। फाजिल को फिजीशियन डॉक्टर बीडी जोशी देख रहे थे। बुधवार को उसे ब्लीडिंग होने लगी थी। डॉक्टरों ने जांच में पाया कि उसका एलाइजा भी पॉजिटिव है। छात्र की गंभीर हालात को देखते हुए डॉक्टरों ने उसे एसटीएच रेफर किया लेकिन वहां ले जाने के बाद डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बच्चे की मौत के बाद परिजन सकते में हैं। फाजिल राजकीय इंटर कॉलेज बनभूलपुरा में कक्षा छह का छात्र था।

डेंगू से लड़ने के लिए ली जाएगी विद्यार्थियों की मदद

डेंगू के प्रकोप से शहर परेशान है। कुमाऊं क्षेत्र में हल्द्वानी में डेंगू का प्रकोप सबसे ज्यादा है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग ने डेंगू से मुकाबला करने के लिए छात्र-छात्राओं का सहारा लेने का प्लान बनाया है। इसके तहत मैदानी क्षेत्रों के विद्यार्थियों को स्कूल में विशेष तरह का डेंगू कार्ड दिए जाएंगे। इन कार्डों में बच्चे डेंगू से बचने के उपाय लिखेंगे। इससे वह खुद तो जागरूक होंगे और दूसरों को भी जागरूक करेंगे। बता दें कि जागरूकता के लिए राज्य ने एक महीने पहले ही जिले को 20 हजार कार्ड भेज दिए थे। इन कार्डों को अति संवेदनशील इलाकों में भेजा गया है। इसके अलावा पहाड़ी इलाकों के स्कूलों में भी कार्ड दिए गए है। अब विभाग इन कार्डों को शहरी इलाकों में वापस मंगवाकर इन्हें बांटेगा ताकि जागरूकता फैल सके।

ऐसे फैलेगी जागरूकता

इस प्लान के बारे में सीएमओ डॉ. भारती राणा ने कहा कि बुखार से बचाव के लिए व्यापक स्तर पर जन जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। छात्रों द्वारा कार्ड में डेंगू से बचने के लिए दिए गए उपाय को लोगों तक पहुंचाया जाएगा। चित्रों के माध्यम से बच्चों को कूलर साफ करने, घर के आसपास पानी जमा न होने देने के बारे में बताया गया है। साथ ही खुद घर पर इस तरह की गतिविधियां कर कार्ड में दिए गए फॉर्मेट को भी भरना है।

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंडः पहले युवक की गला काटकर की हत्या, फिर शव जंगल में फेंका

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंड सनसनीः कमरे में पंखे से लटका मिला पॉलीटेक्निक के छात्र का शव

यह भी पढ़ेंः MBPG छात्रसंघ चुनाव अपडेट: अध्यक्ष पद पर निर्दलीय राहुल धामी का कब्जा

यह भी पढ़ेंः नैनीतालः पिता ने 6 साल के बेटे को जबरदस्ती पिलाई शराब, रोंगते खड़े कर देगी वजह

यह भी पढ़ेंः रुद्रपुरः पिता ने बेटे को PUBG खेलने से रोका, तो बेटे ने पिता को ही बेरहमी से पीट डाला