क्रिकेट के मैदान से हैप्पी न्यूज, हल्द्वानी के दान सिंह भंडारी बने राज्य की अंडर-16 टीम के मैनेजर

443

हल्द्वानी: शहर और क्रिकेट का संबंध किसी ना किसी रूप से मजबूत होता जा रहा है। पहली बार उत्तराखण्ड क्रिकेट टीम भारतीय घरेलू क्रिकेट में हिस्सा ले रही है। विजय हजारे में जो टीम कर रही है, उसने सभी का दिल जीता है। उत्तराखण्ड सीनियर टीम में हल्द्वानी के सौरभ रावत और कार्तिक जोशी शामिल हैं।

इसी बीच खबर आ रही है कि डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन नैनीताल के ज्वाइंट सचिव दान सिंह भंडारी को उत्तराखण्ड क्रिकेट कंसेंसस कमेटी ने राज्य की अंडर-16 टीम का मैनेजर नियुक्त किया है। बता दें कि उत्तराखण्ड क्रिकेट का संचालन उत्तराखण्ड क्रिकेट कंसेंसस कमेटी  की देखरेख में किया जा रहा है। उत्तराखण्ड अंडर-16 क्रिकेट का जिम्मा यूसीसीसी ने उतरांचल क्रिकेट एसोसिएशन को दिया है।उत्तरांचल क्रिकेट एसोसिएशन ने राज्य की अंडर-16 टीम के चयन से पहले राज्य भर के सभी जिलों में ट्रायल का आयोजन कराया। इसके बाद देहरादून में इंटर डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट टूर्नामेंट का आयोजन कराया और जिसके आधार पर 25 खिलाड़ियों का कैंप के लिए चयन किया गया है। यह पहला मौका है कि राज्य की अंडर-16 टीम बीसीसीआई मान्यता प्राप्त टूर्नामेंट में हिस्सा लेगी।

इधर उनके टीम मैनेजर बनने पर खेलप्रेमियों ने खुशी जताई है। दान सिंह भंडारी की करें तो वो हल्द्वानी क्रिकेटर्स क्लब के क्रिकेटर हैं। साल 1997 और 1998 में कुमाऊं विश्वविद्यालय नैनीताल की ओर से नॉर्थ जोन इंटर यूनिवर्सिटी क्रिकेट टूर्नामेंट खेले। वहीं साल 2001-02 में आयोजित हुई राज्य की पहली इंटर स्टेट ओपन क्रिकेट टूर्नामेंट में वो नैनीताल टीम का हिस्सा रहे। पिछले 18 सालों ने उत्तरांचल क्रिकेट एसोसिएशन द्वारा आयोजित राज्य स्तर प्रतियोगिताओं में वो अहम भूमिका निभा चुके हैं।

उनके पास क्रिकेटर ,कोचिंग और  मैनेजमेंट के रूप में खासा अनुभव है। वो ऊधमसिंह नगर के एसएसपीएफ जिला कॉर्डिनेटर भी हैं।

 

दान सिंह भंडारी को मैनेजर बनने के बाद हल्द्वानी क्रिकेटर्स क्लब के इंदर सिंह जैठा ( बीसीसीआई लेवल एक ) दान सिंह कन्याल, विनय जोशी ,आशुतोश कुंवर, होश्यार सिंह देऊपा और महेंद्र सिंह बिष्ट ने बधाई देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की है। इंदर सिंह जैठा ( बीसीसीआई लेवल एक ) ने कहा कि दान सिंह भंडारी ने जिले में क्रिकेट की सालों तक सेवा की है और वो इसके हकदार हैं।