स्कूल बंद होने के बाद भी ट्रांसपोर्ट,कम्प्यूटर, ई-केयर और TC फीस, जांच में मिली शिकायत

स्कूल बंद होने के बाद भी ट्रांसपोर्ट,कम्प्यूटर, ई-केयर और TC फीस, जांच में मिली शिकायत

हल्द्वानी: डीएम सविन बंसल के निर्देशों पर निजी स्कूलों द्वारा फीस सम्बन्धित शिकायतों की जांच शिक्षा अधिकारियों द्वारा की जा रही है। मंगलवार को 4 जांच केन्द्र निमोनिक सीनियर सेकेन्डरी स्कूल,दून पब्लिक स्कूल, इंस्परेशन सीनियर सेकेन्डरी स्कूल व एवरग्रीन पब्लिक स्कूल में क्षेत्र के 20 निजी विद्यालयों के फीस सम्बन्धी दस्तावेजों की जांच एवं सम्बन्धित विद्यालयों के अभिभावको की शिकायतों का संकलन किया गया। जांच टीमों को विभिन्न स्कूलों मे ट्यूशन फीस में वृद्वि सम्बन्धी शिकायतें 06, ट्यूशन फीस छूट व माफ करनें के सम्बन्ध में 13 व ट्रांसपोर्ट फीस,कम्प्यूटर फीस, ई-केयर फीस व टीसी फीस सम्बन्धी शिकायतें प्राप्त हुई।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में 92 वर्षीय आमा ने कोरोना वायरस को दी मात, हर जगह हो रही है चर्चा

बता दें कि निजी स्कूलों द्वारा ली जा रही फीस के सम्बन्ध में अभिभावकों व अन्य द्वारा की गई शिकायतों गंभीरता से लेते हुए डीएम सविन बंसल ने विकास खण्ड हल्द्वानी के निजी स्कूलोें की फीस सम्बन्धी जांच कराने के निर्देश मुख्य शिक्षा अधिकारी को दिये गये थे। जिस पर मुख्य शिक्षा अधिकारी केके गुप्ता ने अधिक तथा जबरन फीस लेने की शिकायत की जांच हेतु शिक्षा अधिकारियोें की चार टीमों द्वारा जांच की गई। गठित टीम ने सोमवार को दीप्ति पब्लिक स्कूल, आर्यमान बिक्रम बिरला स्कूल, क्वींस पब्लिक स्कूल, गुरूकुल इंटरनेशनल स्कूल व मंगलवार को द्वितीय दिवस निमोनिक सीनियर सेकेन्डरी स्कूल,दून पब्लिक स्कूल, इंस्परेशन सीनियर सेकेन्डरी स्कूल व एवरग्रीन पब्लिक स्कूल में जांच केन्द्र बनाकर क्षेत्र के निजी/पब्लिक स्कूल सीबीएससी मान्यता प्राप्त 40 विद्यालयों की जांच की गई।

यह भी पढ़ें: गोलीबारी में शहीद हुए बागेश्वर के प्रदीप दफौटी, वीर को शत-शत नमन

खण्ड शिक्षा अधिकारी हरेन्द्र कुमार मिश्रा द्वारा सभी 4 जांच केन्द्रों के साथ समन्वय करते हुये प्रत्येक केन्द्र का निरीक्षण किया गया। हरेन्द्र मिश्रा ने बताया कि सभी स्कूलों द्वारा जांच टीम द्वारा मांगी गई सूचनाओं को उपलब्ध कराया गया। सूचना व अभिलेखों का सत्यापन के उपरान्त संकलित कर जांच रिपोर्ट मुख्य शिक्षा अधिकारी के माध्यम से जिलाधिकारी को प्रेषित की जायेगी। जांच टीमों द्वारा निर्धारित 40 निजी स्कूलों की जांच की गई व अभिभावकों व अन्य व्यक्तियों द्वारा की गई शिकायतों को संकलित किया गया। जिन अभिभावकों या व्यक्तियों द्वारा लिखित शिकायत दी गई हैं, शिकायतों/ अभिलेखोे का विभाग द्वारा पूरी जांच एवं परीक्षण के उपरान्त शिकायतकर्ता को कार्यवाही से लिखित रूत मे अवगत कराया जायेगा।

यह भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश से उत्तराखंड के बीच 100 बसें चलाने की तैयारी, इन शहरों का नाम शामिल

जांच टीम में खण्ड शिक्षा अधिकारी भाष्करानन्द पाण्डे,अमित कुमार चंद,चक्षुपति अवस्थी,कलेश्वरी मेहता, मधुसूदन मिश्र, किशन चन्द्र लोहनी, सुरेन्द्र सिह रौतेला, बलवन्त सिह मनराल,जेपीएन सिह, बंशीधर अंडोला, प्रयाग सिह रावत, मनोज कुमार उप्रेती थे।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now