इंटरनेशनल स्टेडियम पहुंचे डीएम बंसल, काम से दिखे नाराज, अधिकारियों को कहा…

हल्द्वानी: डीएम सविन बंसल ने गौलापार अन्तर्राष्ट्रीय स्टेडियम एवं स्पोर्टस काम्पलैक्स का निरीक्षण किया। निरीक्षण दौरान उन्होने स्टेडियम काॅरिडोर एवं फिजियो रूम के पास छत से पानी लिकेज होने से फर्श खराब होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुये कार्यदायी संस्था को तत्काल ठीक कराने के निर्देश दिये साथ ही उन्होने कार्य गुणवत्ता की तीसरी विश्वसनीय पार्टी से जांच एवं आडिट कराने के निर्देश भी दिये।


जिलाधिकारी ने कहा कि स्टेडियम एवं स्पोर्टस काम्लैक्स कार्य सीपीडब्लूडी मैनुअल के मानकों के अनुसार सम्पादित किये जा रहे या नही एक सप्ताह मे रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश कार्यदायी संस्था को दिये साथ ही उन्होने स्टेडियम एवं स्पोर्टस का काम्लैक्स का फायर ऑडिट, स्टैक्चर सेफ्टी आडिट रिपोर्ट प्रस्तुत ना करने पर उन्होने सीबीआरआई, आईआईटी रूड़की आईओए अथवा स्पोर्टस अथौरिटी कमेटी से कराने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि स्टेडियम के निर्माण शर्ताे, मानकों के अनुरूप व गुणवत्ता की तीसरी पार्टी से ऑडिट कराया जायेगा साथ ही कार्यो की प्रगति, जांच हेतु मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में समिति कमेटी गठित करने के निर्देश दिये जिसमे मुख्य विकास अधिकारी के साथ ही अधीक्षण अभियन्ता लोनिवि,मुख्य कोषाधिकारी व अधिशासी अभियन्ता इलैक्टिकल मैकेनिकल डिवीजन जल निगम होंगे।

कमेटी प्रत्येक 15 दिन में अपनी रिपोर्ट जिलाधिकारी को प्रस्तुत करेंगे, जिलाधिकारी द्वारा रिपोर्ट को शासन भेजी जायेगी। जिलाधिकारी ने कहा कि उत्तराखण्ड प्रदेश भूकम्प की दृष्टि से अतिसंवेदनशील है इसके मद्देनजर उन्होने स्पोर्टस स्टेडियम व काम्पलैक्स की भूकम्परोधी जांच भी कराने के निर्देश भी निरीक्षण दौरान दिये।


जिलाधिकारी ने कहा कि 2021 में राष्ट्रीय खेल प्रस्तावित हैं इसलिए कार्यो मे गुणवत्ता के साथ ही कार्यदायी संस्था प्रगति लाना भी सुनिश्चित करें। इस हेतु उन्होने कार्यदायी संस्था को प्रत्येक माह का कार्य प्रगति प्लान एक सप्ताह मे प्रस्तुत करने के निर्देश दिये साथ ही उन्होने निरीक्षण दौरान देखा कि श्रमिकों द्वारा सुरक्षा उपकरण नही पहने हैं जिस पर उन्होने नाराजगी व्यक्त करते हुये कार्यदायी संस्था नागार्जुन के प्रबन्धक को निर्देश दिये कि वे श्रमिकों को सुरक्षा उपकरण के साथ ही मूलभूत सुविधायें तुरन्त उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।

उन्होने कहा कि प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा दोबारा भ्रमण पर श्रमिकों कार्य दौरान सुरक्षा उपकरण का उपयोग ना करना व मूलभूत सुविधायेें ना देने पाये जाने पर कार्यदायी संस्था के खिलाफ कडी कार्यवाही की जायेगी। उन्होने जेएमयू हैदराबाद से डिजाइन ऑडिट रिपोर्ट शीघ्र उपलब्ध कराने के साथ ही डीएसी एवं नागार्जुन फर्म के कांँन्टैक्ट प्रपत्र भी शीघ्र उपलब्ध कराने के निर्देश मौके पर दिये। उन्होने इंडोर स्टेडियम के कार्यो मे गति लाने के साथ ही कार्य प्रगति की रिपोर्ट प्रति माह प्रस्तुत करने के निर्देश भी कार्यदायी संस्था को दिये।

निरीक्षण दौरान मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार, उपजिलाधिकारी विवेेक राॅय, सहायक निदेशक खेल अख्तर अली, कोलार्क डिजाइनर के ललित मोहन जोशी, प्रोजेक्ट मैनेजर पेयजल निर्माण निगम राकेश चन्द्र तिवारी, प्रबन्धक नागार्जुन जी रेड्डी आदि उपस्थित थे।