हल्द्वानी में भीड़ कम करने का डीएम बंसल का प्लान,घर बैठे मिल सकती है सेवा!

बुधवार की देर सांय जिलाधिकारी कैंप कार्यालय में जिलाधिकारी श्री सविन बंसल द्वारा कोराना संक्रमण के नियंत्रण हेतु नोडल अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की गई। बैठक में मण्डियों में राशन की दुकानों से लोगों की भीड़ को कम करने के लिए के लिए उपभोक्ताओं तक आवश्यक वस्तुएं जैसे सब्जी, फल, राशन दूध आदि पहुंचाने की व्यवस्था, होम डिलीवरी के माध्यम से किए जाने पर विचार किया गया। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि कि बरेली रोड स्थित नवीन मंडी में केवल थोक विक्रेताओं को ही सब्जियां व फल उपलब्ध कराए जाएंगे, आम आदमी को बड़ी मंडी से आपूर्ति नहीं होगी।


जिलाधिकारी श्री बंसल ने कहा कि आवश्यक सेवाओं से संबंधित लोगों को अपने प्रतिष्ठान का परिचय पत्र एवं प्रतिष्ठान का पत्र अपने साथ रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि की मीडिया, इंटरनेट सर्विस डिश केबल सर्विस, समाचार पत्रों के प्रकाशन स्थान पर कार्यरत कर्मचारियों को पृथक से प्रशासन द्वारा पास नहीं दिए जाएंगे केवल प्रतिष्ठान एवं संस्थान द्वारा जारी परिचय पत्र एवं अथॉरिटी लेटर से ही संबंधित का आवागमन हो सकेगा। श्री बंसल कहा की कि खनन, निर्माण कार्यों में जो श्रमिक कार्यरत हैं उनके भोजन आदि की व्यवस्था संबंधित ठेकेदार एवं वन निगम को करनी होगी संक्रमण के दौरान यदि किसी भी श्रमिक की भुखमरी के कारण मृत्यु हो जाती है तो उसकी जिम्मेदारी संबंधित ठेकेदार एवं वन निगम की होगी ऐसी दशा में संबंधित के खिलाफ एफआईआर दर्ज करते हुए आपदा अधिनियम के विभिन्न धाराओं में कार्यवाही की जाएगी।

श्री बंसल ने कहा कि सुशीला तिवारी चिकित्सालय को कोरोना संक्रमण के लिए पूर्ण तरह तैयार किए जा रहा है एसटीएस में 400 बैड कोरोना संक्रमण को दृष्टिगत आइसोलेशन वार्ड कोरोना संक्रमित हेतु रखे जाएंगे तथा 50 आईसीयू भी एसटीएच में बनाए जाएंगे, एसटीएच में प्राइवेट चिकित्सालय के चिकित्सकों की भी सेवाएं ली जाएंगी। उन्होंने सिटी मजिस्ट्रेट प्रत्यूष सिंह को निर्देश दिए कि वह प्राइवेट एंबुलेंस को भी अधिकृत करें तथा उनका रोस्टर भी तैयार करने के निर्देश उपजिलाधिकारी विवेक राय को दिए साथ ही उन्होने कोरोना से संक्रमण लोगों को एसटीएच के आसपास के होटलों प्राइवेट नर्सिंग सेंटर, आईटीआई परिसर तथा वानिकी प्रशिक्षण संस्थान के छात्रावास अधिगृहीत कर लें ताकि आवश्यकता पड़ने पर इन स्थानों का उपयोग किया जा सके उन्होंने कहा कि स्थापित किए गए कंट्रोल रूम को समय-समय पर सभी प्रकार की सूचनाओं का अभिलेखीकरण किया जाए तथा प्राप्त होने वाली सूचनाएं संबंधित अधिकारियों एवं चिकित्सकों को आगे की कार्यवाही हेतु स्थानांतरित की जाएं कंट्रोल रूम में सभी अधिकारियों को प्रशिक्षण देते हुए वहां मास्क और सैनिटाइजर की व्यवस्था भी बनाई जाए इसके साथ ही सुशीला तिवारी चिकित्सालय में जो पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं उनको भी संक्रमण के संबंध में प्रशिक्षित किया जाए इसके अलावा जो सरकारी विभागीय वाहन चालक ड्यूटी कर रहे हैं उनको भी कोरोना वायरस के संबंध में प्रशिक्षण एवं जानकारी दी जाए ताकि यह लोग भी प्रशिक्षित हो सके।


बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार मीणा, मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार, अपर जिलाधिकारी कैलाश टोलिया, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ भारती राणा, अपर पुलिस अधीक्षक अमित श्रीवास्तव, सिटी मजिस्ट्रेट प्रत्यूष सिंह, एसडीएम विवेक राय, नगर आयुक्त चंद्र सिंह मर्ताेलिया, आरटीओ राजीव मेहरा, आरटीओ विमल पांडे, डॉ गुरदीप सिंह, जिला पूर्ति अधिकारी मनोज बर्मन, एसीएमओ डॉ रश्मि पंत,डॉ तरुण कुमार टम्टा, प्राचार्य मेडिकल कॉलेज डॉ सीपी भैंसोड़ा, चिकित्सा अधीक्षक सुशीला तिवारी डॉ अरुण कुमार जोशी,डा0 बलवीर कुमार आदि मौजूद थे