DPS लामचौड़ ने दिया ग्रीन दिवाली का संदेश, स्कूल के कदम को डीएम ने सराहा

डी.पी.एस हल्द्वानी लामाचौड़ में इस वर्ष दीपावली का महापर्व “अबकी ग्रीन दिवाली नाम से कार्यक्रम का आयोजन किया। बुजुर्गों के साथ”  की संकल्पना के साथ “दीपराग” के सांस्कृतिक महानुष्ठान से प्रारंभ हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सविन बंसल जी (जिलाधिकारी नैनीताल) रहे,  विशिष्ट अतिथि के रुप में डॉ सी. पी.भैंसोड़ा (प्राचार्य राजकीय मेडिकल कॉलेज, हल्द्वानी) व
मनोज शाह जी (पूर्व अध्यक्ष उत्तराखंड मंडी परिषद हल्द्वानी, एवं सारस्वत ,अतिथि
हेमंत बिष्ट जी प्रख्यात राज्यगीत के रचनाकार ,राष्ट्रपति अवार्ड , अंतर्राष्ट्रीय मंच
संचालक) की गरिमामयी उपस्थिति रही । विद्यालय के प्रबंधक तुषार उपाध्याय ने  सभी
का स्वागत किया।


मुख्य अतिथि महोदय सविन बंसल  ने दीप प्रज्ज्वलन कर कार्यक्रम का आरंभ किया।  
सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आरंभ करते हुए विद्यार्थियों ने मंच संचालन कर ,अपनी मंच
संचालन प्रतिभा का परिचय दिया। कक्षा ग्यारहवीं  की छात्राओं ने गणेश वंदना  प्रस्तुत कर
कार्यक्रम का श्री गणेश किया। विद्यार्थियों ने  राजस्थानी नृत्य ,कुमाऊनी नृत्य, गुजराती
नृत्य, पंजाबी नृत्य, गढ़वाली नृत्य व  रामलीला की सुंदर रंगारंग प्रस्तुति दी । वहीं दूसरी
ओर योगा ,भाषण ,लघु नाटक, वाद्य संगीत युक्त कार्यक्रमों की सुंदर अभिव्यक्ति दी।  
विद्यार्थियों ने अपने बहुआयामी व्यक्तित्व के परिचय स्वरूप आर्ट गैलरी का आयोजन कर,
प्लास्टिक उपयोग न करने की जागरूकता को प्रसारित किया।  

विद्यार्थियों ने पर्यावरण की रक्षा करने, स्वच्छ्ता बनाए रखने, पटाखे न छोड़ने, स्वदेशी वस्तुओं का उपयोग करने, पेड़- पौधों का संरक्षण करने व  प्लास्टिक का उपयोग न करने आदि संकल्प के साथ दीपावली उत्सव को यादगार बनाया। इस दीपावली पर्व में लगभग 1510 विद्यार्थियों ने शत प्रतिशत
प्रतिभाग कर, अपनी मंच कौशल प्रतिभा व आत्मविश्वास का उदाहरण प्रस्तुत किया है।  


विद्यालय ने अपने स्थापना के वर्ष 2015 से वर्तमान तक सदैव दीपावली मनाने के
संकल्प को मजबूती प्रदान की है।  विद्यार्थियों ने अपनी प्रतिभा एवं सहभागिता के अतुलनीय योगदान से आगामी पीढ़ी में अपार संवेदनाएं जाग्रत कीं और सबमें  नई ऊर्जा, उमंग, उल्लास जगा,  त्योहारों को प्राकृतिक रुप में मनाने की दिशा के प्रति जागरुक किया ।
अपने उद्बोधन में मुख्य अतिथि सविन बंसल ने  डी. पी.एस हल्द्वानी लामाचौड़ के
शिक्षा ,खेलकूद,संस्कृति ,कला  एवं पर्यावरण के क्षेत्र में किए जा रहे , विशेष प्रयासों की
सराहना की।  उन्होंने बताया कि ग्रीन दिवाली एवं पर्यावरण संरक्षण के महान  संदेश की आज अत्यंत आवश्यकता है और डीपीएस परिवार धरातल पर वास्तव में यह कार्य कर रहा
है।


    

इस वर्ष डीपीएस के विद्यार्थियों ने पर्यावरण संरक्षण एवं प्रदूषण से दुनिया को बचाने
के लिए पटाखामुक्त दिवाली मनाने का संकल्प लिया।  अपने शपथ पत्र में 9 महत्वपूर्ण
महत्वपूर्ण  बिंदुओं के साथ-साथ विद्यालय ने स्वस्थ जीवन के अनेक क्षेत्रों में चली जा रही
विसंगतियों को दूर करने का संकल्प  लिया।  बच्चे शपथ पत्र के साथ लगभग 25,000 घरों
में जागरूकता अभियान चलाएंगे। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि डॉ सी.पी. भैंसोड़ा जी ने
सभी को दीपावली की शुभकामनाएं दी । विशिष्ट अतिथि के रूप में  उपस्थित मनोज
शाह जी ने विद्यालय की स्थापना से वर्तमान तक डी.पी.एस द्वारा स्थापित नए प्रतिमानों
की  प्रशंसा की,प्रख्यात उदघोषक  हेमंत बिष्ट जी द्वारा सुंदर कार्यक्रमों की सराहना की
गई। इस वर्ष प्रत्येक विद्यार्थी को मंच प्रदान करने के उद्देश्य से 2 मंचों की स्थापना की
गई ,जहाँ बच्चों ने मनमोहक संचालन से वाहवाही बटोरी ।

कार्यक्रम का प्रारंभिक संचालन डॉ प्रदीप उपाध्याय ने किया । विद्यालय के प्रबंधक तुषार उपाध्याय ने बताया कि विगत 4 वर्षों से विद्यालय अपने प्रयास ,संकल्प एवं सहयोग से नित नए शैक्षणिक
आयामों को अर्जित करते  श्रेष्ठता की ओर बढ़ता जा रहा है। गत वर्ष बोर्ड परीक्षा में शत-
प्रतिशत परीक्षा परिणाम के साथ ही, 35 प्रतिशत विद्यार्थियों द्वारा, 90 प्रतिशत से अधिक
अंक प्राप्त करना विद्यालय का सराहनीय कदम है। 

‘इनोवेटिव लर्निंग एंड टीचिंग’ श्रेणी में ‘नॉर्थ स्कूल मैरिट अवार्ड’ के  साथ, टॉप CBSE स्कूल उत्तराखंड का सम्मान  एवं ‘कुमांऊ रत्न’ का सम्मान मिलना विद्यालय स्तर को प्रदर्शित करता है।  हाल ही में विद्यालय को टाइम्स ऑफ इंडिया की सर्वे में राज्य के शीर्ष 10  विद्यालयों में भी स्थान मिला है । विद्यालय शिक्षा के साथ-साथ पाठ्य सहगामी गतिविधियों का आयोजन कर प्रत्येक
विद्यार्थी की प्रतिभा एवं आत्मविश्वास को निखारता रहता है। अपनी सांस्कृतिक धरोहरों के
प्रति मानव मूल्यों को बढ़ाते हुए कृतसंकल्प  विद्यालय ने लगातार 3 वर्षों से  उत्थान मंच
में नाटक प्रतियोगिता की चैंपियनशिप प्राप्त की है । प्रत्येक  बच्चे के नाम पर विद्यालय
में एक पौधा रोपित  है ,जिसकी  वृद्धि एवं विकास पर विद्यार्थी ही व्यक्तिगत रूप से ध्यान
देते हैं।  

मुख्य अतिथि महोदय ने प्रदूषण मुक्त दिवाली मनाने के लिए  विद्यालय के हेड ब्वॉय
आदर्श मिश्रा तथा हेड गर्ल दक्षिका तिवारी को दिवाली अपील का  प्रपत्र देकर इस
जागरूकता मुहिम का शुभारम्भ किया। इस वर्ष विद्यार्थियों द्वारा लगभग 25,000 से भी
अधिक परिवारों को “ग्रीन दिवाली अभियान” से जोड़ जाएगा। विद्यालय अपनी संरक्षिका स्वo लीलावती देवी उपाध्याय की प्रथम पुण्यतिथि से, स्वo लीलावती मेमोरियल सोसायटी के रूप में निर्धन ,असहाय एवं जरूरतमंद मेधावी

विद्यार्थियों को शिक्षा के अवसर प्रदान कर, उन्हें सफल नागरिक बनाने में सहयोग करेगा
। इस मेमोरियल सोसायटी द्वारा विद्यालय को नई दिशा प्रदान करते हुए विद्यालय
नियमानुसार अपना नाम परिवर्तन करने जा रहा है।   इस अवसर पर प्री प्राइमरी प्रधानाध्यापिका श्रीमती ललिता बिष्ट, एकेडमिक हेड डॉo एन. एस.भैंसोड़ा, मेन्टर डॉo एम. सी. जोशी, प्रबंधक तुषार उपाध्याय, ट्रस्टी डॉo सलोनी उपाध्याय एवं श्री भुवन चंद्र उपाध्याय ,प्रदीप उपाध्याय ,समस्त शिक्षक व कर्मचारीगण उपस्थित रहे। उपस्थित गणमान्य लोगों ने समस्त अभिभावकों एवं विद्यार्थियों को दीपावली की  अग्रिम हार्दिक शुभकामनाएं प्रेषित कीं। इस अवसर पर 1200 से अधिक अभिभावकों ने  भी मिलकर, इस दीपावली को पर्यावरण संरक्षण व सहयोग  के रूप में मनाने का संकल्प  लिया। इस प्रकार डी. पी.एस हल्द्वानी लामाचौड़ में  दीपावली का महापर्व ” दीपराग” हर्षोल्लास से मनाया गया।