बेस में इलाज कराने वाले मरीजों को सरकार का झटका, नए साल से इलाज में अधिक खर्च होंगे रुपए

141

हल्द्वानी ःहर वर्ष हल्द्वानी के बेस अस्पताल में इलाज के शुल्क में 10 प्रतिशत बढ़ोतरी की जाती हैं। इस बार भी सरकार मरीजों की जेब भारी कर रही है। सरकार के इस फैसले के बाद जनता ने शुल्क में बढोतरी पर नाराजगी जाहिर करी हैं। जनता की मानें तो सरकार शुल्क तो बड़ा देती है परंतु व्यवस्था के नाम पर कभी भी ध्यान नहीं दिया जाता हैं। हॉस्पिटल में फिजीशियन नहीं है।

बेस अस्पताल की गंदगी सालों से परेशानी पैदा करती रही है। कुमाऊं के बड़े सरकारी हॉस्पिटल की हालत उसके नाम के अनुरूप कभी दिखी नहीं। मशीनों का रखरखाव भगवान भरोसे है। अल्ट्रसाउंड, सिटी स्कैन जैसी महत्वपूर्ण मशीने काम नहीं करती है। बेस अस्पताल में इलाज की पर्ची को 21 की जगह 23 रुपये करने की बात कही जा रही है।

एक्सरे मे भी 15 रुपये की बढ़ोतरी करके 165 रुपये करने की बात कही जा रही है, जबकी अभी 150 लिये जाते थे । इसके अलावा  डिजिटल एक्सरे  215 से 237 और सीबीसी 150 से 165,शुगर 43 से 48 , यूरिन 21 से 23, स्टूल 43 से 47,लिपिट प्रोफाइल 254 से 280 और अल्ट्रासाउंड 428 से 471,सीटी स्कैन सिर 1716 से 1888, सीटीस्कैन पेट 2573 से 2831, ब्लड ग्रुप 86 से 95 और एलएफटी 510 से 561 करने की बात करी जा रही है।

यह जानकारी बेस अस्पताल के सीएमएस डाँ एसबी ओली ने देते हुए कहा कि यह सभी शुल्क 1 जनवरी से लगाये जायेगे।