हल्द्वानीः ड्यूटी पर लौट रहे सेना के जवान की संदिग्ध हालत में मौत, ट्रेन में मिला शव

हल्द्वानीः शहर में तब सनसनी मच गई जब बाघ एक्सप्रेस में सफर कर रहे सेना के एक जवान की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। उसका शव काठगोदाम रेलवे स्टेशन पर खड़ी बाघ एक्सप्रेस के दिव्यांग कोच में पड़ा मिला। वह छुट्टियां बिताकर बरेली ड्यूटी पर जा रहा था।

बता दें कि मूल रूप से ग्राम बिरौली, तहसील अनूप शहर जिला बुलंदशहर (यूपी) के रहने वाले 45 साल के विनय कुमार पुत्र चतर सिंह सेना की सात रेजीमेंट बरेली में नायक के पद पर तैनात थे। 19 सितंबर को वह अपने घर आए थे। उनकी छुट्टी 8 अक्तूबर तक थी। मंगलवार दोपहर विनय बुलंदशहर से बाघ एक्सप्रेस के दिव्यांग कोच में सवार होकर बरेली के लिए निकले। बुधवार सुबह बाघ एक्सप्रेस के काठगोदाम पहुंचने पर सभी यात्री उतर गए। इसके बाद जब जीआरपी और आरपीएफ ने ट्रेन के कोच की जांच पड़ताल की तो विनय गोद में रखे पिट्ठू बैग में सिर रखकर सोते हुए मिले। उन्हें उठाया गया लेकिन वह नही उठे। जब उनकी जांच की गई तो उनकी सांसे रुक चुकी थी।

जीआरपी थाना प्रभारी अशोक कुमार का कहना है कि विनय की जेब से बुलंदशहर से बरेली तक का ट्रेन का टिकट मिला है। मौत का कारण हार्ट अटैक बताया जा रहा है। विनय के परिवार में पत्नी लोकेंद्र देवी और दो बेटे हैं। उनके छोटे भाई अशोक कुमार भी राजपूताना राइफल अमृतसर में नायक के पद पर तैनात हैं। उनकी कमीज की जेब में 15 और पिट्ठू बैग की जेब में 500 रुपये मिले, मोबाइल, बच्चों की स्कूल की फीस के कागज, एक ब्लैंक चेक, वर्दी, छुट्टी का प्रमाणपत्र और एक थैली में कचौड़ी भी मिली। वहीं उनकी मौत की सूचना मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया है।

यह भी पढ़ेंः पहाड़ की बेटी ने किया ऐसा कमाल, की झूम उठा सारा बॉलीवुड

यह भी पढ़ेंः विजय हजारे: सिलेक्ट हुए खिलाड़ी का नाम काटा, उत्तराखण्ड क्रिकेट में तूफान के संकेत!

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंडः पत्नी ने पति का किया कत्ल, लोगों ने महिला को घर में किया कैद

यह भी पढ़ेंः हल्द्वानी की बेटी ने किया शहर का नाम रोशन, जीता ब्यूटी खिताब