हल्द्वानी में एक बार फिर गोली कांड,शराब कारोबारी बाल-बाल बचा

हल्द्वानी शहर में सनसनीखेज मामला सामने आया है। बुधवार को हल्द्वानी में शराब कारोबारी ललित रौतेला को  आबकारी विभाग दफ्तर के बाहर ही जान से माने की कोशिश करी गई थी और उनपर फायर की। घटना बुधवार सुबह 10 बजे शराब बजे की है। कारोबारी ललित अपने दोस्त रंजीत बिष्ट के साथ आबकारी विभाग में हल्द्वानी की शराब की दुकानों के बारे में जानकरी के लिए दफ्तर पहुंचे थे।

ललित रौतेला गोरापड़ाव हरिपुर पूर्णानंद के निवासी है। वह पिछले कुछ सालों से शराब का कारोबार कर रहे है। ललित रौतेला की हल्दूचौड़ में राइस मिल भी है। बुधवार को ललित अपने साथी के साथ आबकारी विभाग के दफ्तर पहुंचे। कार से उतरने के बाद जब वह पिछली सीट से कुछ समान निकाने के लिए मुड़े तो दो बाइक सवार युवक जिन्होंने हेलमेट पहना था, वह ललित रौतेला के बगल में रुके और पीछे बैठे युवक ने फायर झोक दिया। ललित रौतेला पहले फायर से बच गये और अपनी कार के पीछे छिप गये। लोगों के शोर मचाने पर हमलावर भागने लगे। ललित ने हमलावरो का पीछा किया पर कब तक हमलावर फरार हो गए थे । घटना की जानकारी मिलते ही वनभूलपुरा एसओ दिनेश नाथ महंत और एसआई मनोज यादव पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंच गए। ललित ने पुलिस टीम को जानकारी दी की वह शराब की दुकानों के बारे में जानकारी लेने पंहुचे थे।एसओ महंत ने जानकारी दी कि मामले में रौतेला की तहरीर पर अज्ञात पर जानलेवा हमले के प्रयास की धारा 307 में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। इसके साथ ही जांच में पुलिस जुट चुकी है। जानकारी के मुताबिक पुलिस को पता चला है कि बदमाश तिकोनिया की तरफ से आये थे। हेलमेट पहनने के कारण हमलावरों की शक्ल नहीं देखी जा रही है। पर पुलिस ने जब सीसीटीवी फुटेज खंगाली तो घटनास्थल से आगे की ओर निकली तो बदमाशों की भोटियापड़ाव स्थित जगदंबा नगर के पास तक फुटेज मिली है। घटना के बाद उनके केमू स्टेशन के पास तक आने की फुटेज भी मिली है। उसके बाद वह कहां गए, इसकी जानकारी पुलिस जुटा रही है। कुछ लोगों की माने तो हमलावर मटर गली की और से भागे थे।