उत्तराखंड में बस, ऑटो और टैक्सी चालक की हड़ताल, लोगों को हो रही है परेशानी

हल्द्वानी: नए मोटर व्हीकल एक्ट का विरोध उत्तराखंड में भी शुरू हो गया है। उत्तराखण्ड परिवहन महासंघ के आह्वान पर बुधवार को निजी बस ऑपरेर्ट्स के अलावा टैक्सी, मैक्सी संचालक भी हड़ताल पर हैं। वहीं इस हड़ताल के चलते लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कई क्षेत्रों में विरोध प्रदर्शन देखने को मिल रहा है। हल्द्वानी में टैक्सी यूनियन की हड़ताल के चलते टैक्सियां टैक्सी स्टैंड में खड़ी रहीं। पहाड़ जाने वाले यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं कुछ जगह पर ऑटो चालकों को भी रोक लिया गया। शहर में केवल स्कूल बसें का सामान्य रूप से संचालन हुआ।कम ऑटो के चलने से लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है और कई स्थानों में लोगों की भीड़ देखने को मिल रही है।

प्रदेश के परिवहन व्ययसायी नए मोटर वैहिकिल एक्ट में बढ़ाए गए जुर्माने को वापस लेने की मांग कर रहे हैं। एक्ट के विरोध में बुधवार को एक दिन का चक्का जाम का ऐलान व्यवसायियों ने किया। उन्होंने कहा है कि, यदि मांगें नहीं माना जाती है तो 19 सितंबर से ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस के आह्वान पर वाहनों के पहिये अनिश्चित काल के लिए ठप कर देंगे।

बता दें कि मंगलवार को देहरादून, हरिद्वार, ऋषिकेश समेत राज्य के कई स्थानों में व्यवसायियों ने बैठक कर चक्का जाम की रणनीति तय की गई थी। उधर, कुमाऊं मंडल में भी टैक्सी यूनियनों ने दिया हड़ताल को समर्थन दिया है। व्यवसायियों का कहना है कि, इतना कर वसूलने के बावजूद सरकार ने नया ऐक्ट लागू करने से पहले हमारे किसी संगठन की राय तक नहीं ली।

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंडः पहले युवक की गला काटकर की हत्या, फिर शव जंगल में फेंका

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंड सनसनीः कमरे में पंखे से लटका मिला पॉलीटेक्निक के छात्र का शव

यह भी पढ़ेंः MBPG छात्रसंघ चुनाव अपडेट: अध्यक्ष पद पर निर्दलीय राहुल धामी का कब्जा

यह भी पढ़ेंः नैनीतालः पिता ने 6 साल के बेटे को जबरदस्ती पिलाई शराब, रोंगते खड़े कर देगी वजह

यह भी पढ़ेंः रुद्रपुरः पिता ने बेटे को PUBG खेलने से रोका, तो बेटे ने पिता को ही बेरहमी से पीट डाला