हल्द्वानी के प्रशांत रावत का भारतीय टीम में चयन, पिता भी रहे हैं इंटरनेशनल खिलाड़ी

हल्द्वानी: खेल के मैदान पर एक बार फिर हल्द्वानी शहर का नाम रोशन हुआ है। शहर के युवा बास्केटबॉल खिलाड़ी प्रशांत रावत (19 साल ) का भारतीय टीम में चयन हुआ है। प्रशांत हल्द्वानी के MBPG कॉलेज के छात्र हैं। प्रशांत रावत का चयन फीबा एशिया कप के लिए भारतीय टीम में हुआ है। भारतीय टीम का मुकाबला 21 फरवरी को बहरीन तो 24 फरवरी को इराक से होगा। प्रशांत वर्तमान में बेंगलुरू में चल रहे नेशनल कैंप में हैं।

गर्व की बात ये भी है कि उनके पिता भी भारतीय बास्केटबॉल टीम के सदस्य रहे हैं। उन्होंने चार बार अंतरराष्ट्रीय चैंपियनशिप में भी दावेदारी की। मूल रूप से अल्मोड़ा के लमगड़ा व वर्तमान में बाराही कॉलोनी पीलीकोठी निवासी एनएस रावत ने बॉस्केटबॉल कोर्ट पर अपनी पहचान बनाई है। टाटा स्टील जमशेदपुर में नौकरी की। इस दौरान उन्होंने वर्ष 1993 से 2000 तक वह भारतीय टीम के सदस्य रहे और इंडोनेशिया, सिंगापुर, मलेशिया, चायना में अंतरराष्ट्रीय बास्केटबाल चैंपियनशिप खेली। इसके बाद वे रुद्रपुर स्थित एक निजी स्कूल में शारीरिक शिक्षक पद पर नियुक्त हुए। इस दौरान वह अपने बेटे प्रशांत के साथ बास्केटबाल की प्रैक्टिस करते रहे।

बेटे ने भी पिता की राह पर चलने का फैसला किया और अब तक नेशनल में ब्रांज तो जूनियर इंटरनेशनल में गोल्ड मेडल अपने नाम किए हैं। प्रशांत साल 2017-18 में खेली गई एशियन बास्केटबाल चैंपियनशिप में भारतीय जूनियर टीम के सदस्य भी रहे। इसके बाद अब उनका चयन भारतीय सीनियर टीम में फीबा एशिया कप के लिए हुआ है।