लालकुआं सूरज हत्याकांड का खुलासा, 3 ITBP जवान गिरफ़्तार, हुई थी मारपीट

हल्द्वानी: 16 अगस्त को आईटीबीपी में भर्ती होने के लिए पहुंचे सूरज सक्सेना हत्याकांड से पुलिस ने पर्दा उठा दिया है। इस मामले में तीन आईटीबीपी जवानों को गिरफ्तार किया है और रिमांड में लेने की तैयारी कर रही है। इस मामले के खुलासे के लिए नैनीताल पुलिस ने करीब 18 जवानों से 10 घंटे तक पूछताछ की थी।  वहीं जवानों को रिमांड पर लेने की तैयारी भी की जा रही है।  यह बात भी सामने आई है कि सूरज की आईटीबीपी जवानों के साथ विवाद हुआ था। इस बारे में सूरज के दोस्त पहले ही परिजनों को बता चुके थे। जवानों की पहचान के लिए पुलिस ने सूरज को दोस्तों को बुलाया था।

जवानों की गिरफ्तारी के बारे में सबसे पहले नानकमत्ता विधायक प्रेम सिंह राणा ने सोमवार को लालकुआं पहुंचकर आईटीबीपी गेट पर हत्याकांड के खुलासे को लेकर धरने पर बैठे सूरज के परिजनों और लोगों को इस बात की जानकारी दी। उन्होंने साफ किया कि इस मामले में लिप्ट आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

max face clinic haldwani

बता दें कि सूरज सक्सेना सितारगंज का रहने वाला था 15 अगस्त को लालकुआं पहुंचा था। सूरज ने 16 अगस्त को भर्ती में भाग लिया था लेकिन उसके बाद से वो गायब था। एक दिन बाद उसका शव आईटीबीपी परिसर में मिला जिसके बाद सनसनी मच गई। मामले की खुलासे के लिए सितारगंज और लालकुआं क्षेत्र में तनाव की स्थिति पैदा हो गई थी। सूरज के गरीब परिवार से था। उसके पिता फल और सब्जी का ठेला लगते थे। मां भी मजदूरी करती था।

सूरज सक्सेना सरकारी नौकरी हासिल कर परिवार की स्थिति को ठीक करने के सपने देखता था जो अब कभी पूरा नहीं हे पाएगा। मृतक सूरज ने बीए उत्तीर्ण करने के बाद एमए प्रथम में दाखिला कराया था। अपने माता-पिता को सरकारी नौकरी कर उनकी गरीबी दूर करने के साथ उन्हें सुख देने का वादा किया था लेकिन किसी को क्या पता था कि सूरज अपना वादा कभी पूरा नहीं कर पाएगा।

यह भी पढ़ें: क्रिकेट के मैदान से खुशखबरी, हल्द्वानी के आर्यन जुयाल ने बनाई टीम इंडिया में जग

यह भी पढ़ें:उत्तराखण्ड में एक और हादसा, लोगों के लिए राहत सामग्री ले जा रहा हैलीकॉप्टर क्रैश

यह भी पढ़ें उत्तराखंडः ट्रेन के आगे कूदे प्रेमी युगल, युवती की हुई मौत, युवक घायल

यह भी पढ़ें:प्रेमी के साथ घर के सामान लेकर भागी तीन बच्चों की मां, पति को ऐसे दिया चकमा