विश्वकप का हिस्सा रहे इंडिया के खिलाड़ी को हल्द्वानी के दीक्षांशु नेगी ने भेजा पवेलियन

हल्द्वानी: विजय हजारे में उत्तराखण्ड के गेंदबाजों ने नागालैंड के खिलाफ शानदार प्रदर्शन किया । टीम ने पहले गेंदबाजी की और विरोधी नागालैंड की टीम को 44.5 ओवर्स में केवल 174 रनों पर पवेलियन भेज दिया। नागालैंड की ओर से केवल स्टुअर्ट बिन्नी उत्तराखण्ड के गेंदबाजों का सामना कर पाए। बिन्नी ने शानदार बल्लेबाजी की और 107 रनों की पारी खेली। उनकी इस पारी के बदौलत ही नागालैंड 150 का आंकड़ा पार कर पाई। बिन्नी की कोशिश थी कि वो टीम के स्कोर को 200 के पार ले जाए लेकिन दीक्षांशु नेगी उनकी उम्मीदों में पानी फेर दिया। दीक्षांशु ने बिन्नी को अवनीश सुधा के हाथों के करवाया और पवेलियन भेजा। स्टुअर्ट बिन्नी भारतीय टीम के सदस्य रह चुके हैं और साल 2015 विश्वकप में टीम का हिस्सा ने। साल 2015 विश्वकप में भारत ने सेमीफाइनल तक का सफर तय किया था।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी उत्तराखण्ड की शुरुआत अच्छी नहीं रही, सलामी बल्लेबाज करणवीर कौशल और उन्मुक्त चंद 29 रनों के भीतर पवेलियन लौट गए। इसके बाद तन्मय श्रीवास्तव और अवनीश सुधा ने टीम को झटकों से उभारा। दोनों ने चौथे विकेट के लिए 122 रनों की साझेदारी की। अवनीश ने उत्तराखण्ड के लिए सर्वाधिक 77 रनों की पारी खेली। वहीं तन्मय ने नाबाद 54 रन बनाए और उत्तराखण्ड ने 7 विकेट से जीत हासिल की। उत्तराखण्ड की ओर से गेंदबाजी में डीके शर्मा, दीक्षांशु नेगी, प्रदीप चमोली, आशीष और रासिल शाह ने 2-2 विकेट हासिल किए।