हल्द्वानीः रुद्रपुर से एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने रिश्तों को तार तार कर दिया है। परिवार बेटी के प्रेम विवाह से इस कदर रुठ़ा कि उन्होनें उसके खुदकुशी करने पर शव लेने से इनकार कर दिया। परिवारवाले बेटी को आखिरी बार देखने तो पहुंचे लेकिन उसके शव को लेने से मना कर दिया।

बता दें कि नैनीताल जिले के भीमताल क्षेत्र के ग्राम रौंसिल की रहने वाली अंजलि भट्ट उम्र 20 साल पुत्री हरीश चंद्र भट्ट ट्रांजिट कैंप के गोविंद नगर में किराये के मकान में रहती थी। मंगलवार को विवाहिता ने अपने कमरे में फांसी लगाकर अपनी जीवनलीला समाप्त कर दी। विवाहिता के पिता ने अंजलि के पति सोनू पर हत्या का आरोप लगाया था। इसके बाद बुधवार को मायके वालों ने पोस्टमार्टम के बाद अंजलि का शव लेने से इनकार कर दिया। ट्रांजिट कैंप एसओ विद्यादत्त जोशी का कहना है कि मृतका का शव पति सोनू को सौॆप दिया है।

चोरगलिया निवासी सोनू मेहता और अंजलि के बीच प्रेम था। और करीब एक साल पहले दोनों ने प्रेम विवाह किया था। करीब तीन महीने पहले दोनों में अनबन होने लगी। इसी वजह से दोनों करीब अलग-अलग रहने लगे। पुलिस का कहना है कि दोनों में तलाक लेने की तैयारी कर रहे थे। पति रुद्रपुर में रहता था। वही अंजलि भी रुद्रपुर में रहकर सिडकुल में काम करती थी। लेकिन कुछ समय से वह भी काम पर नहीं जा रही थी। पिता ने बेटी की मौत के लिए उसके पति को ही जिम्मेदार ठहराया, लेकिन अभी तक पुलिस को तहरीर नहीं दी है। मामले के बाद पुलिस शव का पोस्टमार्टम कराया। पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने का इंतजार कर रही है। इसके बाद ही मामले की जांच की जाएगी।

यह भी पढ़ें: उत्तराखण्ड में तीसरे बच्चे पर नहीं मिलेगी ‘Maternity Leave, हाईकोर्ट का फैसला

यह भी पढ़ें: सनसनीः प्यार में हुआ फेल तो छात्र ने लगा ली फांसी, डायरी में लिखी पूरी कहानी

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में एक बार फिर इंसानियत हुई शर्मसार, घर में बुलाकर युवती से किया दुष्कर्म

यह भी पढ़ें: वॉट्सएप के मैसेज ने खोली पति की पोल, पत्नी ने गर्लफ्रेंड के साथ रंगेहाथ पकड़ा

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now