लामाचौड़ स्थित निमोनिक सीनियर सेकेंडरी स्कूल में मंगलावर को वार्षिक खेल उत्सव का आयोजन किया गया। इस अवसर पर स्कूल के तमाम छात्र-छात्राओं ने विभिन्न खेलों में हिस्सा लिया। बच्चों ने अपने प्रदर्शन से दिखाया कि वो खेल में भी कमाल कर सकते है। इस मौके पर बच्चों ने देश भक्ति से जुड़ी प्रस्तुति भी थी जिसने मैदान पर मौजूद सभी दर्शकों के रोंगते खड़े कर दिए और पूरा परिसर तालियों से गूंज उठा।

इस मौके पर स्कूल के प्रबंधक कैलाश भगत और पब्लिक स्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष गोपाल बिष्ट ने खेलों को पढ़ाई के बराबर बताया। उन्होंने कहा कि प्रत्येक बच्चे के अंदर एक हुनर होता है वो खेल में भी हो सकता है और पढ़ाई में भी। उन्होंने बताया कि स्कूल लेवल में खेल में बढ़ावा मिलते रहना चाहिए और हम वही कोशिश कर रहे हैं।

 

खेल उत्सव में अतिथि के रूप में पहुंचे सिटी मजिस्ट्रेट पंकज उपाध्याय ने सभी बच्चों की तारीफ की। उन्होंने आर्मी की थीम पर बच्चों द्वारा तैयार प्रस्तुति की तारीफ की। बच्चों की प्रस्तुति की तरह ही फौजी देश के लोगों को आगें बढ़ने के लिए अपना जीवन निछावर कर देते हैं। छात्र -छात्राओं की प्रस्तुति हमेशा ही समाज में एक स्वच्छ संदेश देती है। इस मौके पर उन्होंने पढ़ाई के अलावा खेल व अन्य विभागों पर भी बात की।

उन्होंने कहा कि पढ़ाई जरूरी है लेकिन अभिभावकों को खेल पर भी ध्यान देना चाहिए। खेल बच्चों को पूर्ण रूप से विकसित करने में मदद करता है। मॉर्डन जमाने में देश का युवा ऑलराउंडर होना चाहिए।  सिटी मजिस्ट्रेट पंकज उपाध्याय को स्कूल के प्रबंधक कैलाश भगत और पब्लिक स्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष गोपाल बिष्ट स्मृति चिन्ह भेंट किया।