हर उम्र के लोगों में पैरों में जलन की समस्या आम बात हो गई है। पैरों की नसों के क्षतिग्रस्त हो जाने के कारण यह समस्या उत्पन्न होती है जिसे न्यूरोपैथी (neuropathy) कहा जाता है। आमतौर पर पैरों में जलन की समस्या डायबिटीज के कारण होती है लेकिन ज्यादातर मामलों में पैरों के जलन का इलाज तंत्रिकाओं के क्षतिग्रस्त होने की वजह को ध्यान में रखकर किया जाता है। इस बीमारी के बारे में हल्द्वानी स्थित साहस होम्योपैथिक के डॉक्टर नवीन चंद्र पांडे ने कहा कि पैरों में किसी पुरानी चोट के कारण भी यह दिक्कत पैदा हो सकती है। हमारी तंत्रिकाओं की ऐसी संरचना होती है कि वे मस्तिष्क की सूचनाओं को मांसपेशियों में भेजती हैं और उन्हें ताप और दाब के प्रतिक्रिया में सहायता करती हैं। लेकिन जब ये तंत्रिकाएं क्षतिग्रस्त हो जाती हैं तो सूचनाएं भेजने का कार्य प्रभावित होने लगता है। इसकी वजह से पैरों में जलन के कई लक्षण दिखने शुरू हो जाते हैं और ये लक्षण आते एवं जाते रहते हैं। उन्होंने कहा कि अगर आपके साथ ऐसा होता है तो तुंरत डॉक्टर से सलाह ले। उन्होंने कुछ होम्योपैथिक दवाएं भी बताई जिसके सेवन से पैरों में हो रही जलन की परेशान पूर्ण रूप से खत्म हो जाएगी।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now