चंद मिनटों में पहुंचेंगे केदारनाथ धाम, हेली सेवा शुरू, किराया और टाइमिंग जानें

केदारनाथ के लिए एरो एविएशन, पिनकल, चिप्सन, क्रिस्टल, थुंबी, हिमालयन समेत आठ हेली कंपनियां सेवा देंगी

देहरादून: चारधाम जाने वाले यात्रियों के लिए अच्छी खबर है। लंबे वक्त से हेली सेवा शुरू होने का इंतजार था वो अब खत्म हो गया है। शुक्रवार से गुप्तकाशी, सोनप्रयाग, मैखंडा, जामू-फाटा और बडासू से हेलीकॉप्टर केदारनाथ के लिए सुबह छह बजे से सेवा शुरू हो गई है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो हेली सेवा को अच्छा रिपॉंस मिल रहा है। सभी कंपनियों को धाम के लिए पचास से साठ फीसदी बुकिंग मिल चुकी हैं। हेली सेवा का उपयोग करने वालों को ई-पास की जरूरत नहीं है। इस विषय पर एसओपी पहले ही जारी हो चुकी हैं।

यह भी पढ़ें: ब्रेकिंग न्यूज: केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का निधन

यह भी पढ़ें:उत्तराखंड:मैच के दौरान क्रिकेट Players के बीच मारपीट, बैट से एक दूसरे पर किए वार

कोरोना काल में भी तीर्थयात्री केदारनाथ पहुंच रहे हैं। 12 जून से अभी तक धाम में कुल 24815 यात्री बाबा केदार के दर्शन कर चुके हैं। केदारनाथ में 2235 श्रद्धालुओं ने भगवान आशुतोष के स्वयंभू लिंग के दर्शन किए। सभी श्रद्धालुओं को सभा मंडप से बाबा के दर्शन कराए जा रहे हैं। कल केदारनाथ के लिए 2175 ई-पास जारी किए गए थे। सभी को उम्मीद है कि हेली सेवा शुरू होने से अब प्रतिदिन दर्शनार्थियों की संख्या बढ़ने की उम्मीद है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड:ITBP की बस अनियंत्रित होकर घर की छत पर पहुंची, इसे चमत्कार कहिये

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में अजब-गजब, शादी के लिए प्रेमिका ने प्रेमी के घर पर दिया धरना

हेलीकॉप्टर सेवा के सहायक नोडल अधिकारी सुरेंद्र सिंह पंवार ने जानकारी दी कि केदारनाथ के लिए एरो एविएशन, पिनकल, चिप्सन, क्रिस्टल, थुंबी, हिमालयन समेत आठ हेली कंपनियां केदारघाटी में पहुंच चुकी हैं। हेली कंपनियों का स्टॉफ व हेलीकॉप्टर चिहिृत हेलीपैड पर पहुंच चुके हैं। उम्मीद की जा रही है कि हेली सेवा के शुरू होने के बाद धाम में ज्यादा से ज्यादा श्रद्धालु भी पहुंच सकेंगे। इसके साथ ही कपाट बंद होने के बाद भी हेली सेवा धाम के लिए जारी रहेगी। हेली कंपनियों को जरूरी दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। हेली सेवा के किराए के बारे में बात करें तो केदारनाथ जाने के लिए गुप्त काशी से 3875 रुपये, फाटा से 2360, सिरसी से 2340 रुपये प्रति व्यक्ति किराया तीर्थयात्रियों को देना होगा।

यह भी पढ़ें: रानीबाग में स्टील ग्रेडर टू-लेन पुल का काम शुरू, भीमताल जाते वक्त अब जाम नहीं

यह भी पढ़ें: चल गया डीएम सविन बंसल का प्लान, ऐपण को पहचान भी और लोगों को स्वरोजगार भी

बता दें कि केदारनाथ धाम आने वाले यात्रियों को पहले से रजिस्ट्रेशन कराना होगा। जिसके लिए वे लोग GMVN के वेब पोर्टल ( https://gmvnonline.com/) पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। बता दें कि केदारनाथ की हेली सेवाओं के लिए अब तक 850 लोग बुकिंग करा चुके हैं। टिकटों की कालाबाजारी ना हो इसके लिए बुकिंग के लिए किसी भी निजी कंपनी को जिम्मेदारी नहीं दी गई है।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now