फिर सुर्खियों में MBPG कॉलेज,परीक्षा पहले सेमेस्टर की और पेपर दे दिया 5वें सेमेस्टर का…

हल्द्वानी: छात्र-छात्राओं के भविष्य की चाबी शिक्षण संस्थानों के ज़िम्मे होती है। जैसा चाहें संस्थान छात्रों के भविष्य को ढाल सकते हैं। मगर उत्तराखंड का कुमाऊं विवि बारम्बार ऐसी गलतियों को दोहराते रहता है जिससे उसकी लापरवाही झलकती है। कुमाऊं विवि के एमबीपीजी कॉलेज हल्द्वानी की परीक्षा प्रणालियों में सुधार आने का नाम नहीं ले रहा है। दुर्भाग्यपूर्ण है कि इतने बड़े और इतने नामी विश्वविद्यालय ने प्रथम सेमेस्टर के छात्रों को पांचवे सेमेस्टर के प्रश्न पत्र बंटवा दिए। सुधार के लिए बोला गया तो वो भी नहीं हो पाया।

दरअसल कुमाऊं विवि के कॉलेजों में यह वक्त स्नातक और परास्नातक के परीक्षा सुधार एवं बैक के पेपरों का है। इसी कड़ी में सोमवार को हल्द्वानी के एमबीपीजी कॉलेज में पहले शिफ्ट में सुबह दस बजे से बीएससी रसायन विज्ञान के पहले सेमेस्टर का बैक का एग्ज़ाम था। परीक्षा शुरू हुई, पेपर बांट दिए गए। मगर प्रश्न पत्र पर नज़र डालते ही छात्र-छात्राएं चक्कर में पड़ गए।

यह भी पढ़ें: विराट और अनुष्का का उत्तराखंड कनेक्शन, आशीर्वाद देने के लिए बाबा अनंत हरिद्वार से पहुंचे मुंबई

यह भी पढ़ें: दुष्कर्म प्रकरण:विधायक नेगी DNA सैंपल देने नहीं पहुंचे सीजेएम कोर्ट,स्टे के लिए पहुंचे हाईकोर्ट

अब पहले सेमेस्टर के विद्यार्थी किस तरह पांचवे सेमेस्टर के सवालों का उत्तर दे सकते थे। जी हां..शिक्षकों ने प्रथम सेमेस्टर के विद्यार्थियों को पहले की जगह पांचवे सेमेस्टर के प्रश्न पत्र दे दिए थे। यह प्रश्न पत्र विवि द्वारा ही दिए गए थे। जब छात्रों ने सवाल खड़े किए तो परीक्षा प्रभारी ने विवि से संपर्क किया और दूसरे प्रश्न पत्र भेजने की मांग की। मगर विश्वविद्यालय ने दूसरे पेपर भेजने से इन्कार कर दिया। विवि का कहना था कि जल्दी में प्रश्न पत्र भेजना नामुमकिन है।

जिसके बाद उसी प्रश्न पत्र में सुधार करने के निर्देश विवि की ओर से शिक्षकों को मिले। शिक्षकों ने सुधार कर के विद्यार्थियों को दिया तब जाकर परीक्षा संपन्न हुई। इसके अलावा दूसरी शिफ्ट में भी विवि द्वारा की गई एक गलती सामने आई। यहां एमए मनोविज्ञान के चौथे सेमेस्टर के पेपर में पहला और दूसरा प्रश्न हूबहू छापा हुआ था। जिसको बाद में सुधार कर विद्यार्थियों को दिया गया। प्रभारी प्राचार्य डॉ नवीन भगत ने बताया कि मामला सामने आया ता मगर दोनों परीक्षाएं शांतिपूर्ण ढंग से पूरी गो गईं।

यह भी पढ़ें: योगनगरी ऋषिकेश में पहली बार सुनाई दिया ट्रेन का हॉर्न, केवल एक यात्री ने किया सफर

यह भी पढ़ें: बर्ड फ्लू:हल्द्वानी पालम सिटी कॉलोनी में मिला मृत पक्षी,जांच के लिए भेजा जाएगा सैंपल

यह भी पढ़ें: केंद्र सरकार का Sea-Plan, अब पानी के ज़रिए पर्यटक पहुंचेंगे उत्तराखंड

यह भी पढ़ें: देहरादून से जयपुर और अन्य दो शहरों के लिए शुरू हुई हवाई सेवा,शेड्यूल पर डाले नजर

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now