हल्द्वानी: बदलते मौसम और हल्की सर्दी होने पर जुकाम के साथ खांसी आना आम है, लेकिन कई बार खांसी लगातार होती रहती है और लंबे समय तक रहती है। हल्द्वानी साहस होम्योपैथिक के डॉक्टर नवीन पांडे ने बताया कि अगर खांसते समय आपको सांस लेने में तकलीफ हो और साथ में अजीब-सी आवाज आने लगे, तो ये काली खांसी के लक्षण हो सकते हैं। यह एक गंभीर समस्या है, जिसके कई गंभीर दुष्परिणाम हो सकते हैं। इस परेशानी से छुटकारा दिलाने के लिए उन्होंने एक यूट्यूब वीडियो के माध्यम से इलाज बताया है।

डॉक्टर पांडे की मानें तो कभी भी इस तरह की परेशानी किसी को होती है तो उसे डॉक्टर से तुरंत संपर्क करना चाहिए। उन्होंने बताया कि काली खांसी एक जीवाणु संक्रमण है। इस संक्रमण के कारण अनियंत्रित खांसी और सांस लेने में तकलीफ  होती है। इंग्लिश में काली खांसी को पर्टसुसिस और वूपिंग कफ के नाम से जाना जाता है। यूं तो काली खांसी का संक्रमण किसी को भी हो सकता है, लेकिन, इससे सबसे ज्यादा प्रभावित नवजात और बच्चे होते हैं। खांसने की वजह से शिशुओं के लिए खाना, पीना और यहां तक कि सांस लेना भी कई बार मुश्किल हो जाता है

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now