आंखों से पानी आने वाली समस्या का जड़ होगा इलाज, साहस होम्योपैथिक टिप्स

हल्द्वानी: आंखों से पानी आने का वास्तव में मतलब होता है आंखों से बहुत अधिक आंसू निकलना। जैसा की आपकों पता है कि आंसू आंखो की सतह को नम रखने में मदद करते है। कई लोगों आंखों से पानी निकलने की परेशानी होती है और इस पर हल्द्वानी साहस होम्योपैथिक के डॉक्टर नवीन पांडे ने कुछ टिप्स दिए। उन्होंने बताया कि आंसू आंखों में चिकनाई रखने के लिए और बाहरी कणों व पदार्थों को आंखों से बाहर निकालने में मदद करते हैं।

आँखों से कभी-कभी पानी आना स्वाभाविक है, लेकिन बहुत ज्यादा मात्रा में आंसू आने की स्थिति अच्छी नहीं होती। ऐसे में आपकों डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। उन्होंने बताया कि आपकी आंखे हमेशा आंसू बनाती रहती हैं। ये आंसू आंखों के कोने में छोटे-छोटे छेदों के माध्यम से आँखों से बाहर निकल जाते हैं। इन छेदों को “अश्रु नलिकाएं” (Tear duct) कहा जाता है।

आंख में पानी आने के अन्य कारण हो सकते हैं जैसे एलर्जी, अश्रु नलिकाओं में रुकावट, आँख आना, पर्यावर्णीय कारक, आँख में बाहरी वस्तु का जाना या आँखों का सूखापन दूर करने के लिए शरीर की प्राकृतिक प्रक्रिया आदि शामिल हैं। आंख में पानी आने के साथ आपको आखों का लाल होने, सूजन आने और कम या धुंधला दिखाई देने जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं।