इन होम्योपैथिक दवाओं के सेवन से मिलेगा फ्लू से निजात, वीडियो टिप्स…

17

हल्द्वानी:  (फ्लू) वायरल बुखार है जो सर्दियों के दौरान बच्चों में आम तौर पर हो जाता है। कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता होने की वजह से बच्चे इसका शिकार जल्दी हो जाते हैं। अचानक बुखार हो जाना, सिरदर्द, मांसपेशियों में दर्द और बेचैनी के साथ साथ खराब गला, सरसराहट, नाक बहना और सांस प्रणाली की समस्याएं होना आदि सामान्य फ्लू के लक्षण हैं। हल्द्वानी साहस क्लीनिक के डॉक्टर नवीन चंद्र पांडे ने बताया कि  बच्चों में फ्लू के लक्षण जुकाम और सांस प्रणाली के ऊपरी हिस्से के संक्रमण जैसे ही होते हैं। इससे मिचली, उल्टी और दस्त भी हो सकते हैं।

‘फ्लू बहुत तेजी से फैलता है, खासकर तब जब बच्चे स्कूल के बंद कमरों में रहते हैं। जब किसी की छींक या खांसी से निकले नमी कण हवा के जरिए फैलते हैं तो सांस के जरिए दूसरे बच्चों के अंदर भी चले जाते हैं या फिर जब बच्चे नाक से बहने वाले मवाद या संक्रमित थूक के संपर्क में आते हैं। आज इस परेशानी से निजात दिलाने के लिए कुछ होम्योपैथिक दवाएं बताने जा रहा हूं इससे समस्या काफी हद तक दूर हो जाएगी।

  • Nisikind (4 टेबलेट दिन में 3-6 बार)