इन होम्योपैथिक दवाओं के सेवन से दूर रहेंगी गर्मी से होने वाली परेशानी, साहस होम्योपैथिक वीडियो टिप्स

24

हल्द्वानी: गर्मी के मौसम में तेज गर्म हवा भी चलती है जिसे लू कहा जाता है। ये शरीर के लिए काफी घातक साबित होती है क्योकि इससे शहीर में पानी की कमी हो जाती है। हल्द्वानी साहस होम्योपैथिक क्लीनिक के डॉक्टर नवीन चंद्र पांडे ने बताया कि लोगों से लू से बचने चाहिए, ये हिट स्ट्रोक का मुख्य कारण है।

उन्होंने लू से बचने के लिए कुछ टिप्स दिए-

धूप में निकलते वक्त छाते का इस्तेमाल करना चाहिए. सिर ढक कर धूप में निकलने से भी लू से बचा जा सकता है.
* घर से पानी या कोई ठंडा शरबत पीकर बाहर निकलें. जैसे आम पना, शिकंजी, खस का शर्बत ज्यादा फायदेमंदहै.
* तेज धूप से आते ही और ज्यादा पसीना आने पर फौरन ठंडा पानी नहीं पीना चाहिए.
* गर्मी के दिनों में बार-बार पानी पीते रहना चाहिए ताकि शरीर में पानी की कमी न हो.
* पानी में नींबू और नमक मिलाकर दिन में दो-तीन बार पीते रहने से लू लगने का खतरा कम रहता है.
* धूप में बाहर जाते वक्त खाली पेट नहीं जाना चाहिए.
* सब्जियों के सूप का सेवन करने से भी लू से बचा जा सकता है.

*गर्मी के दिनों में हल्का भोजन करना चाहिए. भोजन में दही को शामिल करना चाहिए.
* नहाने से पहले जौ के आटे को पानी में मिलाकर पेस्ट बनाकर बॉडी पर लगाकर कुछ देर बाद ठंडे पानी से नहाने से लू का असर कम होता है.
* लू से बचने के लिए कच्चे आम का लेप बनाकर पैरों के तलवों पर मालिश करनी चाहिए.
* लू लगने और ज्यादा गर्मी में शरीर पर घमौरियां हो जाती हैं. बेसन को पानी में घोलकर घमौरियों पर लगाने से फायदा होता है.
लू लगने पर जौ के आटे और प्याज को पीसकर पेस्ट बनाएं और उसे शरीर पर लगाएं. जरूर राहत मिलेगी.
* धूप में निकलने से पहले नाखून पर प्याज घिसकर लगाने से लू नहीं लगती. यही नहीं धूप में बाहर निकलते वक्‍त अगर अाप छिला हुआ प्‍याज लेकर साथ चलेंगे तो भी आपको लू नहीं लगेगी.

इसके अलावा डॉक्टर पांडे ने होम्योपैथिक दवा भी बताई जो हिट स्ट्रोक से लोगों को दूर रख सकती है।