रोडवेज कर्मचारियों को नहीं मिल रहा था ESI का लाभ, विभाग की लापरवाही सामने आई

देहरादून: उत्तराखंड परिवहन निगम के कर्मचारियों की सेवा को लेकर विभाग लापरवाही कर रहा था। पता चलने पर सेवा को दोबारा शुरू कर दिया गया है। उत्तराखंड परिवहन निगम में कार्य करने वाले विशेष श्रेणी और संविदा के करीब साढ़े तीन हजार कर्मचारियों को ESI का लाभ मिलेगा। निगम प्रबंधन की ओर से ईएसआई से बातचीत करने के बाद कर्मचारियों के लिए चिकित्सा सुविधा शुरू कर दी गई है। ॉ

उत्तरांचल रोडवेज कर्मचारी यूनियन के प्रदेश महामंत्री अशोक चौधरी ने इस संबंध में रोडवेज एमडी को ज्ञापन दिया था। रोडवेज प्रबंधन ने ईएसआई अधिकारियों से वार्ता कर 15 दिन में अंशदान जमा कराने को कहा। लिहाजा, सभी कर्मचारियों के लिए ईएसआई चिकित्सा लाभ सेवाएं बहाल कर दी गई हैं।

यह भी पढ़े:कौशिक दिल्ली आएं तो हम उन्हें केजरीवाल मॉडल से कराएंगे रूबरू,हमें भाग जाने कि आदत नहीं : सिसोदिया

यह भी पढ़े:बर्ड फ्लू का डर,नैनीताल ZOO के जीवों को बचाने के लिए चिकन, अंडे को मीनू से हटाया गया

बता दें उत्तराखंड परिवहन निगम में करीब 3500 कर्मचारी संविदा या विशेष श्रेणी के तहत अपनी सेवाएं दे रहे हैं। निगम हर महीने उनके वेतन से ईएसआई का अंशदान काटने के बाद वेतन जारी करता है। यह अंशदान सीधे ईएसआई में जमा करा दिया जाता है। इससे यहां काम करते सभी कर्मचारियों को चिकित्सा लाभ मिलता है, लेकिन विभिन्न डिपो में काम कर रहे कर्मचारियों ने शिकायत की थी कि उन्हें ईएसआई का लाभ नहीं मिल पा रहा है। जब उन्होंने इस संबंध में ईएसआई अधिकारियों से बात की तो पता चला था कि परिवहन निगम उनका अंशदान ही जमा नहीं करा रहा है। इस वजह से उन्हें चिकित्सा लाभ नहीं मिल पा रहा है। लेकिन अब इन सब चीजों से मिली कर्मचारियों को राहत, चिकित्सा सुविधा शुरू कर दी गई है।

यह भी पढ़े:देहरादून SSP कार्यालय में दो कौवों के मृत पाए जाने से मचा हड़कंप,बर्ड फ्लू की आशंका

यह भी पढ़े:उत्तराखंड: पैर पसारता साइबर क्राइम,रुद्रपुर में व्यापारी से 12 लाख की ठगी से मचा हड़कंप

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now