नैनीताल: एक बार फिर शर्मसार हुई इंसानित, पैसों के लिए कर डाली भाई की हत्या

इस मामले में एसएसपी नैनीताल जन्मेजय खंडूरी ने बताया कि अज्ञात शव की शिनाख्त होने के बाद हत्याकांड के बारे में अहम जानकारी मिली है। शव की शिनाख्त होना सबसे अहम था, जल्द हत्यारा भी पुलिस की गिरफ्त में होगा।

1152

नैनीताल: पैसों के लालच ने भाई को इतना अंधा कर दिया था कि उसने अपने भाई को जान से मारने की स्क्रिप्ट लिख डाली । जी हां वही भाई जिसके साथ बचपन में उसने जिंदगी के सबसे खूबसूरत पल जिए थे। कालाढूंगी रोड पर युवक की हत्या कर शव खाई में फेंकने के मामले में नैनीताल पुलिस को कामयाबी मिली है। इस मामले में सनसनीखेज खुलासा सामने आ रहा है। मृतक के पिता ने वारदात के पीछे पैसों का लालच बताते हुए छोटे भाई पर हत्या का आरोप लगाया है। उन्होंने पुलिस को बताया कि इस काम में उसने अपने ससुराल पक्ष की मदद ली।

थायराइड को नजरअंदाज करना खतरनाक साबित हो सकता है- डॉक्टर सहज जोशी

बता दें कि 12 मई को सुबह कालाढूंगी रोड पर मंगोली और बजून के बीच बूढ़ा पहाड़ के पास एक युवक का शव मिला था। शव मिलने से पास के इलाकों में सनसनी फैल गई थी। शव को चादर व गमछे की रस्सी बांधा था और  गला घोंटकर उसकी हत्या की गई थी। मामले की जांच कोतवाल विपिन पंत कर रहे है। मामले की गंभीरता को देखते हुए नैनीताल एसएसपी जन्मेजय खंडूरी ने खुलासे के लिए एसओजी को भी लगाया था।

शैमफॉर्ड स्कूल:प्रैक्टिकल बेस पढ़ाई से होगी छात्रों की नींव मजबूत

पुलिस ने मृतक की पहचान के लिए उसे सोशल मीडिया पर पोस्ट किया। इसके बाद सामने आया कि मृतक मुरादाबाद का रहने वाला है। संभल पुलिस ने नैनीताल पुलिस को जानकारी दी कि  टांडा अमरपुर निकट गन्ना मिल, थाना बिलारी जिला मुरादाबाद व हाल निवासी गुमथर रोड, अशोक नगर, थाना बनियाढेर, जिला संभल उत्तर प्रदेश निवासी जहेंद्र पाल चौधरी, उनके भाई विजय पाल व रिश्तेदार भूरा के साथ नैनीताल पहुंचे थे मृतक की पहचान मनोज चौधरी (27) के रूप में हुई है।

हल्द्वानी प्रकाश डेंटल टिप्स- रूट कैनाल उपचार से दूर होगा दांतों का अहसाय दर्द

मृतक के पिता पिता जहेंद्र ने बताया कि चार साल पहले उनके छोटे बेटे रवि की शादी धर्मपुर कलां, शाहबाद रोड मुरादाबाद से हुई थी। माता-पिता की सेवा की वजह से मनोज ने शादी से इंकार कर दिया। जहेंद्र के पास 10-12 बीघा खेती की जमीन, ट्रैक्टर, और करीब 15 लाख का मकान भी है। परिवार में खुशी का माहौल था। उसी बीच ससुरालियों ने रवि के कान भर दिए और फिर वो जमीन व संपत्ति हड़पने की साजिश में शामिल हो गया। उन्होंने बताया कि संपत्ति के लिए रवि ने मुझपर भी हमला किया था।

हल्द्वानी: नए लक्ष्य के साथ शुरू होगा HCA का नया क्रिकेट सत्र

इस घटना के बाद जहेंद्र, पत्नी व बेटे मनोज के साथ घर छोड़कर अशोक नगर में किराये में रहने लगे। जहेंद्र अपना घर बनाने के की सोच रहे थे। उन्होंने उसके लिए मनोज से सड़क के पास 50 गज जमीन की तलाश करने को कहा था। इसके लिए वो अपनी जमीन बेचने की सोच रहे थे। इस बात का पता जैसे ही रवि को लगा तो उसने भाई को मौत के घात उतारने की प्लानिंग कर ली। इस काम में उसका उसकी सास, साला और चचिया ससुर भी शामिल हैं।

नाम से नहीं काम से भी मास्टर है हल्द्वानी का द मास्टर्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल

बेटे के मौत के बाद 55 वर्षीय जहेंद्र टूट गए है। मेरा बेटा मनोज हमें पालने के लिए मजदूरी करता था। उसने हामरे लिए शादी भी नहीं की। उन्होंने पुलिस को एक कॉल के बारे में बताया जिसके बाद से मनोज गायब हो गया। यह साफ नहीं हो सका कि हत्या में भाड़े के हत्यारे थे या नहीं। कॉल करने वाले की तलाश की जा रही है।