इंटर डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट चैंपियनशिप में नैनीताल टीम का धमाका, चंपावत को 131 रनों से हराया

263

हल्द्वानी:देहरादून में चल रही इंटर डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट चैंपियनशिप में नैनीताल जिले ने एक बार फिर अपने क्रिकेट स्तर का परिचय दिया। नैनीताल ने पहले मैच में चंपावत को 131 रनों से हरा विरोधियों को अपने मंसूबे दिखा दिए हैं। नैनीताल ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया लेकिन उसकी शुरुआत किसी बुरे सपने की तरह हुई। सलामी बल्लेबाज कप्तान सौरभ रावत 3 और प्रभाकर नैनवाल मात्र 8 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। शुरूआती विकेट मिलने के बाद चंपावत की टीम नैनीताल पर और हावी हो गई और चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए सौरभ रावत शून्य पर पवेलियन लौट गए। नैनीताल के लिए देंवेंद्र कुंवर एक छोर पर डटे हुए थे लेकिन दूसरे छोर से विकेट गिरने का सिलसिला जारी था। पांचवे पायदान पर बल्लेबाजी करने आए किशोर भंडारी भी मात्र 6 रन बनाकर आउट हो गए।

Related image

इसी बीच अच्छी लय में दिख रहे देवेंद्र कुंवर भी 31 रन बनाकर आउट हो गए। नैनीताल ने 76 रनों पर 6 विकेट खो दिए थे और ऐसा लग रहा था कि चंपावत के सामने वो 100 का आंकड़ा भी पार नहीं कर पाएंगे, लेकिन इरकार कुछ और ही सोच कर आए थे। उन्होंने आते ही चंपावत के गेंदबाजों की जमकर खबर ली। पहले 20 ओवर टॉप पर रहने वाली चंपावत मुकाबले में पहली बार दवाब में दिखती नजर आई। इकरार को दीपेश का अच्छा साथ मिला और दोनों ने 8वें विकेट के लिए दमदार 99 रनों की साझेदारी कर नैनीताल को मुकाबले में वापस ला दिया।

नैनीताल के लिए शानदार 76* रनों की पारी खेलने वाले इकरार

इसी बीच दोनों ही बल्लेबाज ने अपनी-अपनी फिफ्टी पूरी की।  दीपेश 40 गेंदों में 60 रन बनाकर आउट हुए। वहीं इकरार ने अपना तूफानी अंदाज जारी रखा और उन्होंने 85 गेंदों में  नाबाद 76 रनों की पारी खेली। दीपेश और इकरार की शानदार बल्लेबाजी की बदौलत नैनीताल ने निर्धारित 40 ओवर में 226 रन बनाए। इलके अलावा करन फर्त्याल ने 9 और रक्षित ने नाबाद दो रन बनाए। चंपावत की ओर से गेंदबाजी में विशाल बिष्ट, आकाश और विशाल सिंह ने 2-2 विकेट लिए। वहीं किशोर और उमेश को 1-1 विकेट मिला।

लक्ष्य रा पीचा करने उतरी चंपावत की शुरूआत खराब रही। उसके दोनों सलामी बल्लेबाज प्रदीप 8 और शंकर 4 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। इसके बाद चंपावत नैनीताल के गेंदबाजों द्वारा बनाए दवाब से उभर नहीं पाया और उसके नियमित अंतराल में विकेट गिरते रहे। चंपावत की ओर से सबसे ज्यादा नीरज पाटनी ने 22 रन बनाए।कप्तान दीपक पचौली भी कुछ खास नहीं कर सकें और 6 रन बनाकर आउट हो गए। वहीं मनोज 15 और उमेश 14 रन ही बना सके। चंपावत की पूरी टीम 95 रनों पर ऑल आउट हो गई। इसके साथ ही नैनीताल ने चंपावत को 131 रनों के अंतर से मात दी। नैनीताल की ओर से देवेंद्र कुंवर ने तीन, पृथ्वी और करन ने 2- 2 विकेट विकेट अपने नाम किए। जबकी दीपेश और रियान को एक-एक विकेट मिला।

इस जीत के बाद कोच इंडर जैठा संतुष्ट जरूर है लेकिन उन्होंने कहा कि उपरी क्रम के बल्लेबाजों को अपनी जिम्मेदारी समझनी होगी। वहीं उन्होंने इस जीत का श्रेय इकरार और दीपेश को दिया। उन्होंने कहा कि दोनों ने अपनी जिम्मेदारी को समझा और टीम को मैच में वापस लाए। उनकी पारी ने मुमेंटम को हमारी ओर कर दिया जिसका फायदा गेंदबाजों ने उठाया। बता दें कि नैनीताल को लीग का दूसरा मुकाबला टिहरी से मंगलवार को खेलना है।