देहरादून: राजधानी में चल रही इंटर डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट टूर्नामेंट में नैनीताल क्रिकेट टीम का शानदार प्रदर्शन जारी है। पहले मैच में चंपावत को 131 रनों से हराने के बाद दूसरे मैच भी नैनीताल की टीम शानदार लय में दिखी। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी चमोली की शुरूआत बेहद खराब रही। सलामी बल्लेबाज शेलेंद्र केवल 2 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। इसके बाद नैनीताल की टीम विरोधी बल्लेबाजों को मैच के पहले हाफ से ही शिकंजे में फंसाने का प्लान बना दिया है। नैनीताल के गेंदबाजों को इसमें कामयाबी भी मिली।

स्वस्थ्य दांतों के बिना पर्सनिलिटी में निखार केवल सपने जैसा, प्रकाश डेंटल टिप्स

चमोली के अधिकतर बल्लेबाजों को शुरुआत जरूर मिली लेकिन वो शानदार गेंदबाजों के सामने उसे आगे नहीं बढ़ा सके।चमोली की ओर से सागर ने सबसे ज्यादा 45 रन बनाए। वहीं रवि नेगी 20,जय प्रकाश 13,पवन 14,पवन 18,हितेश 29 और हीरा ने एक रन बनाए। चमोली के तीन बल्लेबाज खाता खोलने में भी नाकाम रहें। नैनीताल की ओर गेंदबाजी में युवा विनय कुमार ने चमोली के बल्लेबाजों को अपनी फिरकी से दिन में तारे दिखा दिए। विनय ने 6.5 ओवरों की गेंदबाजी में 32 रन देकर 4 विकेट हासिल किए। इस बीच उन्होंने दो ओवर मेडन भी किए। वहीं दीपेश ,पृथ्वी गैरा और देवेंद्र कुंवर ने 2-2 विकेट अपने नाम किए। नैनीताल की कसी हुई गेंदबाजी के सामने चमोली की टीम 33.5 ओवर में केवल 164 रन बनाकर सिमट गई।

पेट दर्द का पूर्ण इलाज जरूरी नहीं तो हो सकता है खतरनाक: डॉक्टर सहज जोशी

लक्ष्य का पीछा करने उतरी नैनीताल की शुरुआत बेहद खराब रही। उसके सलामी बल्लेबाज प्रभाकर नैनवाल एक और देवेंद्र कुंवर शून्य पर पवेलियन लौट गए। टीम संकट में भी सानिब सिद्दीकी और कप्तान सौरभ रावत ने टीम के खतरे से बाहर निकालने की जिम्मेदारी दी।  दोनों ही बल्लेबाजों ने प्लानिंग के साथ बल्लेबाजी करने का फैसला किया।  सानिब सिद्दीकी एक छोर से स्कोर बोर्ड को धीरे-घीरे बढ़ा रहे थे वहीं सौरभ रावत आक्रमक अंदाज में बल्लेबाज कर रहें थे। दोनों की साझेदारी ने टीम को जीत की पटरी पर ला दिया। सौरभ रावत 36 गेंदों में 41 रन बनाकर आउट हुए।

हैजा का सफाया करेंगी ये होम्योपैथिक दवाएं, हल्द्वानी साहस होम्यो वीडियो टिप्स

इसके बाद बल्लेबाजी करने आए सौरभ रावत ने भी  सानिब सिद्दीकी का अच्छा साथ दिया और वही रोल निभाया जो कप्तान निभा रहे थे। सौरभ ने 35 गेंदों में 43 रन बनाए। इसी बीच सानिब सिद्दीकी ने अपनी फिफ्टी भी पूरी कि जिसने निश्चित कर दिया कि नैनीताल को सेमीफाइनल में पहुंचने से कोई नहीं रोक सकता है। उन्होंने नाबाद 55 रनों की पारी खेलकर टीम के 5 विकेट से जीत दिला दी। इस जीत के साथ नैनीताल की टीम टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में पहुंच गई है।