हल्द्वानी समेत तीन तहसीलों में सस्ती हुई जमीन,पहले से कम रुपयों में बन सकेगा आपके सपनों का आशियाना

हल्द्वानी: शहर वासियों और आस पास के इलाकों के लोगों के लिए खुशखबरी है। अगर आप ज़मीन खरीदने की फिराक में हैं और केवल इसलिए रुके हुए हैं क्योंकि आपको मन मुताबिक भूमि बजट के हिसाब से नहीं मिल पा रही है। तो अब आप निश्चिंत हो जाईए क्योंकि हल्द्वानी समेत जिले की तीन तहसीलों में सर्किट रेट में 10 फीसद की कमी की गई है। महानिरीक्षक निबंधन देहरादून डा. अहमद इकबाल ने मंगलवार को इस संबंध में डीएम नैनीताल को संबंधित आदेश भी जारी कर दिए हैं।

बहरहाल अकृषि भूमि और कृषि भूमि, दोनों के ही रेट पहले से कम कर दिए गए हैं। अब घर, दुकान और भूमि खरीदने के लिए पहले से काफी आसानी हो जाएगी। आपको याद होगा कि जनवरी 2020 ही वह महीना था, जब सरकार द्वारा व्यावसायिक और रिहायशी जमीनों के सर्किल रेट में बढ़ोतरी की गई थी। इसी वजह से हल्द्वानी में अकृषि भूमि 250 और कृषि भूमि में 150 से 250 फीसद बढ़ोतरी हुई थी। बहरहाल अब इन दोनों ही तरह की ज़मीनों की कीमतों में भारी गिरावट आई है। उम्मीद लगाई जा रही है इससे लोगों को बहुत फायदा पहुंचेगा।

महानिरीक्षक निबंधन उत्तराखंड डा. अहमद इकबाल ने जानकारी दी। उन्होंने बताया कि नैनीताल जिले के जिलाधिकारी को आदेश भेज दिए हैं। शासन ने जिले की तीन तहसीलों में सर्किल रेट दस फीसद घटा दिया है। नई दरें तत्काल प्रभाव से लागू होंगी। आईए आपको बताते हैं, कि अब किस तरह से दिखती हैं ज़मीन की कीमतें :-

हल्द्वानी तहसील :- नई दरें (कृषि भूमि)

पनचक्की चौराहे के आगे से एसटीएच तक – 3.78 करोड़ रुपये (प्रति हेक्टेयर)

पीलीकोठी चौराहे से धान मिल तक – 3.78 करोड़ रुपये (प्रति हेक्टेयर)

कोआपरेटिव बैंक चौराहे के आगे से नवीन मंडी तक – 6.75 करोड़ रुपये (प्रति हेक्टेयर)

कालाढूंगी चौराहे से मुखानी तक – 6.75 करोड़ रुपये (प्रति हेक्टेयर)

नवीन मंडी के आगे से सिटी हास्पिटल तक – 3.78 करोड़ रुपये (प्रति हेक्टेयर)

नई दरें (अकृषि भूमि)

कुसुमखेड़ा चौराहे के आगे से कठघरिया तक – 27 हजार रुपये (प्रति वर्ग मीटर)

नवीन मंडी के आगे से सिटी हास्पिटल तक – 31 हजार 500 रुपये (प्रति वर्ग मीटर)

पनचक्की चौराहे से एसटीएच तक – 31 हजार 500 रुपये (प्रति वर्ग मीटर)

कारखाना बाजार – 16 हजार 200 रुपये (प्रति वर्ग मीटर)

यह भी पढ़ें: बागेश्वर:ग्राम प्रधान के भाई की चमोली आपदा में मौत,इंजीनियर के पद पर थे दीपक कुमार

यह भी पढ़ें:हल्द्वानी कोतवाली बन गई बुद्ध पार्क, कल विरोध में हुआ धरना तो आज समर्थन में…

लालकुआं तहसील :- नई दरें (कृषि भूमि)

बमेटाबंगर केशवदत्त – 1.12 करोड़ रुपये (प्रति हेक्टेयर)

जग्गीबंगर – 1.12 करोड़ रुपये (प्रति हेक्टेयर)

हल्दूचौड़ दौलिया – 81 लाख रुपये (प्रति हेक्टेयर)

हिम्मतपुर चौम्वाल – 63 लाख रुपये (प्रति हेक्टेयर)

नई दरें (अकृषि भूमि)

गांधीनगर, आंबेडकर नगर, सुभाषानगर – 6300 रुपये (प्रति वर्ग मीटर)

तुलारामपुर, पाडलीपुर – 4500 रुपये (प्रति वर्ग मीटर)

फत्ताबंगर – 4500 रुपये (प्रति वर्ग मीटर)

हरिपुर बच्ची – 4050 रुपये (प्रति वर्ग मीटर)

यह भी पढ़ें: धन्यवाद BSNL,आपकी वजह से बच पाई सुरंग में फंसे 12 लोगों की जिंदगी

यह भी पढ़ें:चमोली आपदा:उत्तराखंड पुलिस ने खोया साथी,राजकीय सम्मान के साथ विदा हुए हेड कांस्टेबल मनोज चौधरी

कालाढूंगी तहसील :- नई दरें (कृषि भूमि)

हल्द्वानी-कालाढूंगी मोटर मार्ग (नगरीय सीमा तक) – 3.60 करोड़ रुपये (प्रति हेक्टेयर)

हल्द्वानी छोटी (आंशिक) – 2.52 करोड़ रुपये (प्रति हेक्टेयर)

बैलपड़ाव – 1.12 करोड़ रुपये (प्रति हेक्टेयर)

कुंवरपुर – 54 लाख रुपये (प्रति हेक्टेयर)

बैलपोखरा – 90 लाख रुपये (प्रति हेक्टेयर)

नई दरें (अकृषि भूमि)

कालाढूंगी से बैलपड़ाव तक – 6120 रुपये (प्रति वर्ग मीटर)

बैलपड़ाव से रामनगर मोटर मार्ग तक – 5400 रुपये (प्रति वर्ग मीटर)

कार्बेट पार्क – 6300 रुपये (प्रति वर्ग मीटर)

चांदनी चौक – 4860 रुपये (प्रति वर्ग मीटर)

यह भी पढ़ें: चमोली अपडेट: एक कॉन्स्टेबल और ASI का शव बरामद, मृतकों की कुल संख्या हुई 34

यह भी पढ़ें:उत्तराखंड क्रिकेट ब्रेकिंग:हेड कोच वसीम जाफर ने एसोसिएशन को भेजा इस्तीफा

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now