नैनीताल:आठवीं के सनी कश्यप को मिलेगा नेशनल वीरता अवार्ड,जान पर खेलकर बचाई थी ज़िंदगी

हल्द्वानी: पिछले साल नैनीताल जिले के सनी कश्यप ने अपने साहस का परिचय देकर एक युवक को मौत के मुंह से बाहर निकाला था। अब कक्षा आठ में पढ़ने वाले सनी की हिम्मत को भारतीय बाल कल्याण परिषद द्वारा सम्मानित किया जाना है। परिषद ने इस बालक के हौसले की सराहना की है। साथ ही परिषद ने 2020 के पुरस्कार के लिए प्रदेश से दो लोगों को चुना है। जिसमें से सनी भी एक है।

रामनगर निवासी सनी कश्यप की यह कहानी बहुत ही हैरान कर देने वाली कहानी है। दरअसल कोसी नदी में पानी उफान पर था। नदी में 22 वर्षीय रवि कश्यप बह गया। आसपास के लोगों ने शोर मचाया और मोबाइल निकाल कर वीडियो बनानी शुरू कर दी। किसी के दिमाग में डूबते को नदी से बाहर निकालने का ख्याल नहीं आया। मगर यह ख्याल सनी कश्यप के ज़ेहन से दूर नहीं रहा।

जैसे ही सनी की नज़र नदी में बहते रवि पर पड़ी। उसने बिना कुछ सोचे समझे, नदी में छलांग लगा दी। बताया जाता है कि पानी का बहाव इतना तेज़ था कि रवि का हाथ सनी के हाथ से छूट रहा था। मगर एक पत्थर के सहारे से सनी ने युवक को खुद से अलग नहीं होने दिया। फिर कड़ी मशक्कत के बाद वह रवि को ठीक तरह से बाहर निकाल लाने में कामयाब रहा।

सनी की इसी हिम्मत को काफी लोगों, नेताओं और संस्थाओं द्वारा सराहा गया और उसे सम्मानित भी किया गया। अब इसी कड़ी में एक और उपलब्धि जुड़ने वाली है। सनी को राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार मिलने वाला है। इसकी घोषणा हो गई है। बता दें कि सनी राजकीय पूर्व माध्यमिक विद्यालय मोतीमहल (रामनगर) में आठवीं कक्षा में पढ़ता है। सनी के इस साहस के लिए उत्तराखंड राज्य बाल कल्याण परिषद ने प्रस्ताव भेजा था।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़,कॉर्ल के साथ ग्राहक बनकर पहुंचा नेता भी गिरफ्तार

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड:1 मार्च से खुलेंगे सभी कॉलेज,कुलपतियों, उच्च शिक्षा निदेशक और जिलाधिकारियों को आदेश जारी

सनी की मां माया देवी और सनी इस खबर के बाद से ही बेहद खुश हैं। मगर सनी का परिवार पिछले काफी समय से परेशानियां झेल रहा है। सनी के पिता बट्टूमल का निधन नौ साल पहले हो चुका है। अबी सनी, उसका भाई और उसकी मां एक कच्चे घर में रहते हैं, जो कि किराए का है। मां माया देवी लोगों के घरों में चौका बर्तन करके घर चलाती है। बड़ा भाई परचून की दुकान में काम करता है। बेटे की सफलता पर मां माया देवी ने कहा कि बच्चों को हमेशा दूसरों की मदद करने की सीख दी है।

बुधवार रात सनी को पुरस्कार के लिए चयनित होने की सूचना पर आसपास के लोग भी बधाई देने के लिए पहुंचने लगे। उत्तराखंड राज्य बाल कल्याण परिषद की महासचिव पुष्पा मानस ने जानकारी दी। उन्होंने बताया कि रामनगर के सनी और पिथौरागढ़ के मोहित उप्रेती को यह सम्मान मिलना काफी गर्व की बात है। आपको बता दें कि पुरस्काल वितरण वार्षिक परीक्षा के बाद होगा। साथी ही ऑलनाइन होगा या ऑफलाइन, यह भी अभी क्लियर नहीं है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में फौजी की संदिग्ध मौत, पिता ने कहा बहु ने पिलाया जहर, मामला दर्ज

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी में युवती ने ऑर्डर किया पिज्जा, मोबाइल पर आया 60 हज़ार रुपए कटने का मैसेज

यह भी पढ़ें: नैनीताल: स्कूल गई दो बहनों ने किया सुसाइड, खेत में मिला शव

यह भी पढ़ें: दिल्ली में पहुंचे सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत, गैरसैंण की जरूरत के लिए फिर उठाई मांग

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी में पूर्व छात्र महासंघ उपाध्यक्ष सुंदर आर्य ने की आत्महत्या, प्रेमिका के घर पर खाया जहर

यह भी पढ़ें: विजय हजारे में जारी है उत्तराखंड का विजयरथ, मणिपुर के खिलाफ जीत में चमके मयंक और जयबिष्टा

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड पुलिस बनी टीचर, इंटर कॉलेज में पढ़ाई फिजिक्स और मैथ्स

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी:डिग्री कॉलेज प्रैक्टिकल देने गई छात्रा वापस नहीं लौटी घर, परिजन पहुंचे कोतवाली

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now