नैनीताल: डीएम सविन बंसल की अभिनव पहल पर राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर फ्लैट्स मैदान, रिक्शा स्टैण्ड, जिला कार्यालय से बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ व अन्य सामाजिक ज्वलन्त समस्याओं को लेकर जनजागरूकता के लिए स्थानीय स्कूल, काॅलेजों के आर्ट्स विद्यार्थियों के सहयोग से जिला प्रशासन द्वारा वाॅल पैंटिंग की शुरूआत की। डीएम बंसल व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार मीणा ने विद्यार्थियों के साथ स्वयं भी पेंटिंग की शुरूआत की व विद्यार्थियों की हौसला अफजाई की।


डीएम बंसल ने बताया कि वर्तमान सामाजिक ज्वलन्त समस्याओं की ओर ध्यान आकर्षित करने एवं समाज में जागरूकता लाने के लिए जनपद के सार्वजनिक स्थानों पर वाॅल पेंटिंग के माध्यम से बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, स्वास्थ्य, सड़क सुरक्षा आदि का संदेश देने की कवायद शुरू की है। उन्होंने कहा कि वाॅल पेंटिंग के द्वारा जहाॅ जनजागरूकता आएगी, वहीं आर्ट्स के विद्यार्थीयों को अपनी कला दिखाने का मौका मिलेगा।


डीएम ने कहा कि जनपद के सार्वजनिक स्थानों पर वाॅल पेंटिंग के माध्यम से प्रतिभावान विद्यार्थियों को अपनी कला एवं विचारों को प्रदर्शित करने का मौका मिलेगा तथा वाॅल पेंटिंग के माध्यम से जन-जागरूकता के साथ ही सार्वजनिक स्थलों को सुन्दर व आकर्षक बनाया जा रहा है।

पेंटिंग के माध्यम से समाज में बेटियों के महत्व, महिलाओं के प्रति समाज को जागरूक करने, अनियंत्रित जनसंख्या वृद्धि के नुकसान, स्वच्छता एवं पर्यावरण के महत्व के बारे में संदेश दिया जाएगा। डीएम बंसल ने कहा कि पेंटिंग की शुरूआत डीएसए मैदान, जिला कार्यालय से की गई है। यह अभियान आगे भी जारी रहेगा। अभियान के तहत जनपद के अधिक से अधिक चिकित्सालयों, कार्यालयों, सार्वजनिक स्थलों को जनजागरूकता देने वाली वाॅल पेंटिंग से सुन्दर व आकर्षक बनाया जाएगा और बच्चों को आगे भी अपनी प्रतिभा को निखारने एवं दिखाने का अवसर मिलता रहेगा। श्री बंसल ने कहा कि वाॅल पेंटिंग करने वाले विद्यार्थियों को ग्रुप व एकल वर्ग में नकद पुरस्कार के साथ ही सभी प्रतिभागियों को सर्टिफिकेट प्रदान किया जायेंगे।


वाॅल पेंटिंग में विभिन्न स्कूल काॅलेजों के 21 ग्रुपों में लगभग 100 विद्यार्थियों द्वारा प्रतिभाग किया गया। प्रतिभा दिखाने का अवसर देने, पेंटिंग सामाग्री देने, यातायात व अन्य सुविधाएं देने के लिए सभी विद्यार्थियों ने डीएम का आभार व्यक्त किया।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार, अपर जिलाधिकारी एसएस जंगपांगी, कैलाश सिंह टोलिया, उप जिलाधिकारी विनोद कुमार, प्रोफेसर रीना सिंह, जिला कार्यक्रम अधिकारी अनुलेखा बिष्ट, एआरटीओ विमल पाण्डे, ईओ एके वर्मा, जिला पर्यटन विकास अधिकारी अरविन्द गौड़ आदि उपस्थित थे।