श्रीदेवी की मौत के पीछे दाऊद का हाथ ! पूर्व एसीपी का दावा… सकते में देश…

495

नई दिल्ली: बॉलीवुड एक्ट्रेस श्रीदेवी की मौत ने पूरे देश में कोहराम मचा दिया है। उनकी मौत दुबई के जुमैरा एमिरेट्स होटल में हो गई थी। श्रीदेवी का परिवार उस दौरान अपने भांजे मोहिस मारवा की शादी में गया था। श्रीदेवी की मौत ने पूरे फिल्म जगत को सदमे में डाल दिया था। 24 फरवरी को श्रीदेवी की मौत पानी से भरे बाथटब में गिरने की वजह से हो गई। उनकी मौत की यहीं वजह पोस्टमार्टम रिपोर्ट में शराब पीने की भी पुष्टि हुई थी। लेकिन अब श्रीदेवी की मौत के संबंध पर बड़ी बात सामने आ रही है।  दिल्ली पुलिस के पूर्व एसीपी ने श्रीदेवी की मौत की बताई गई वजह पर संदेह जताया है। उन्होंने श्रीदेवी की मौत को हादसा नहीं बल्कि सोची समझी साजिश बताया है।

हल्द्वानी प्रकाश डेंटल टिप्स: दांतों से जुड़ी कई परेशानी का इलाज है कॉस्मेटिक फिलिंग

दिल्ली पुलिस के पूर्व एसीपी वेद भूषण ने अपनी निजी जांच एजेंसी की मदद से श्रीदेवी की मौतक मामले में की जांच की। पुलिस सॉल्यूशन इंडिया नाम की एक निजी जांच एजेंसी की मदद से उन्होंने दुबई के होटल एमिरेट्स टावर्स की छानबीन करवाई, जहां श्रीदेवी की मौत हुई थी। इस जांच के बाद उन्होंने दावा किया है कि श्रीदेवी की मौत हादसा नहीं बल्कि साजिश है। जिसके दार अंडरवर्ल्ड से जुड़े हैं।

शैमफॉर्ड स्कूल:प्रैक्टिकल बेस पढ़ाई से होगी छात्रों की नींव मजबूत

उन्होंने आशंका जताई है कि श्रीदेवी की मौत में अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहिम का हाथ हो सकता है। उन्होंने दलील दी है कि दाउद का दुबई में बहुत दबदबा है। दुबई के प्रिंस के परिवार के साथ भी दाऊद के अच्छे संबंध हैं। इतना ही नहीं दुबई के जिस होटल में श्रीदेवी की हत्या हुई वो होटल भी दाऊद का ही है।

बेसिक को मजबूत करने के इरादे से शुरू होगा नरसिंह क्रिकेट एकेडमी का नया सत्र

उन्होंने कहा कि इस केस की जांत के लिए उन्होंने निजी जांच एजेंसी के साथ एक रात के लिए जुमैरा एमिरेट्स होटल में बताई और जांच की। वेद-भूषण ने कहा कि दुबई पुलिस से उन्होंने श्रीदेवी के खून के नमूने भी मांगे, लेकिन उन्हें नहीं दिया गया। उन्होंने ये पूछा कि आखिर श्रीदेवी के फेफड़े में कितना पानी घुसा था, लेकिन ये भी जानकारी देने से मना कर दिया गया। अब वेद भूषण श्रीदेवी की मौत की गुत्थी सुलझाने के लिए दोबारा से जांच करवाने के मकसद से सुप्रीम कोर्ट में अपील करने की बात कर रहे हैं।