पूरे देश में बदले की आग, पाकिस्तान से 44 जवानों की जान का भारत मांगे हिसाब

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर पुलवामा जिले में गुरुवार शाम बहुत बड़ा आत्मघाती आतंकी हमला हुआ। समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक इस हमले में अभी तक कम से कम 44 जवान शहीद हो गए थे जबकि कई जवान घायल बताए जा रहे हैं। श्रीनगर-जम्मू हाइवे पर स्थित अवंतीपोरा इलाके में आतंकियों ने सीआरपीएफ के एक काफिले को निशाना बनाकर यह हमला किया। सीआरपीएफ के जिस काफिले को निशाना बनाया गया उसमें 78 वाहन शामिल थे। हमले के बाद ऐसी तस्वीरें सामने आई हैं जो मन को विचलित करने वाली हैं। पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश -ए-मोहम्मद ने इसकी जिम्मेदारी ली है। यह 2004 के बाद से सबसे बड़ा आतंकी हमला बताया जा रहा है।

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आत्मघाती हमले की मैं घोर निन्दा करता हूं। जो घटना हुई उसे तो बदला नहीं जा सकता पर अब बदला लेने का समय जरूर आ गया है। बदला ऐसा होना चाहिए जैसा इज़रायल और अमेरिका लेते हैं। ऐसा बदला कि कोई भी आतंकवादी पैदा होने से पहले हज़ार बार सोचे। अब इस ओर सख्त कदम उठाने का समय आ गया है। भारत देश का जो व्यक्ति आतंकवादी का पक्ष ले उसे भी गोली मार दो,अब बस यही एक रास्ता है। हिंसा का अंत बस हिंसा से ही हो सकता है।मेरे सभी शहीद वीर जवानों को भावभीनी श्रद्धांजलि जय हिन्द, जय भारत ..

पुलवामा आतंकी हमले पर प्रतिक्रिया देते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, ‘यह हमला पाकिस्तान स्थित जैश ए मोहम्मद द्वारा किया गया है।  मैं मैं देश के लोगों को आश्वस्त करता हूं कि इसका कड़ा जवाब दिया जाएगा। देश शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करता है।’

पुलवामा आतंकी हमले को लेकर एक और बात सामने आई है। हमले के लिए स्कॉर्पियो का इस्तेमाल किया गया था। स्कॉर्पियो बस के पीछे थी और लेथपोरा पहुंचने पर बस की गति धीमी हो गई  जिसके बाद स्कॉर्पियो ने बस को टक्कर मार दी और फिर धमाका हो गया।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now