नई दिल्ली:एक तरफ जहां देश की बढ़ती उन्नती के बाद भी भारतीय युवाओं में विदेश जाकर पढ़ने और काम करने का क्रेज़ थमने का नाम नही ले रहा है वहीं विदेश भेजने के नाम पर युवाओं से ठगी के किस्से भी चरम पर हैं।हर दिन ऐसी खबरों के आने से प्रशासन क्षुब्ध है। आए दिन पुलिस के सामने इस तरह के मामले रहे हैं। एक दर्जन से ज्यादा ऐसे केस में इकनॉमिक सेल जांच कर रही है। पुलिस के अनुसार हर सप्ताह एक केस विदेश भेजने के नाम पर ठगी करने का रहा है। एजेंट युवाओं को विदेश में अच्छा करियर के सपने दिखाकर उनसे लाखों रुपए ऐंठ रहे हैं। विदेश जाने पर जब पैसे वापस मांगते हैं तो धमकी देने लग जाते हैं।यूपी के धामपुर से भी ऐसी ही ठगी चर्चा में आई है।

विदेश भेजने के मामले में एक और ठग की मनमानी ने पुलिस की नाक में दम करके रखा है। युवाओं को विदेश भेजने के नाम पर ठगी करने वाला धामपुर का जावेद कुरैशी भी ऐसा ही एक बड़ा कबूतरबाज निकला। देश के छह राज्यों की पुलिस उसका कई महीनों से पीछा कर रही है। प्राथमिक जांच में पता चला है कि जावेद गुरुग्राम में बैठकर एक फर्जी ट्रेवल एजेंसी चलाता है और देशभर के युवाओं को ठगता है। वह फर्जी हवाई टिकट से लेकर पासपोर्ट और वीजा तक युवाओं को मुहैया कराने में माहिर है।

मामले तब सामने आया जब शनिवार को अनिल कुमार निवासी सारथी विहार हरिद्वार रोड देहरादून की शिकायत पर पुलिस ने नेहरू कॉलोनी थाने में विदेश भेजने के नाम पर 24 लाख रुपये ठगने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया था। ठगी का आरोप मुंबई की एक ट्रेवल एजेंसी संचालक जावेद कुरैशी पर है।दरअसल कई राज्यों के सैकड़ों युवाओं को अपना शिकार बनाचुका कुरैशी मूल रूप से बिजनौर के धामपुर का रहने वाला है। मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस अधीक्षक नगर श्वेता चौबे ने एक टीम गठित कर जावेद की तलाश में भेजी थी। जांच में पता चला है कि जावेद की ट्रेवल एजेंसी मुंबई नहीं बल्कि गुरुग्राम, हरियाणा में है।यहां बाकायदा उसने एक ऑफिस बनाया हुआ है, लेकिन कुछ समय से वह फरार चल रहा है। पुलिस को जांच में यह भी पता चला है कि जावेद ने उत्तराखंड के ही महज 28 लोगों को नहीं, बल्कि देश के कई राज्यों के सैकड़ों युवाओं को अपना शिकार बनाया है। वर्तमान में वह करोड़ों रुपये ठगकर फरार चल रहा है। इस ठग के पीछे छह राज्यों की पुलिस पड़ी हुयी है।

जांच में सामने आया है कि जावेद मोटी रकम लेकर लोगों को खाड़ी देशों में भेजने का दावा करता है। उसके बहकावे में महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, बिहार, उत्तर प्रदेश के युवा भी आ चुके हैं। इन सभी राज्यों की पुलिस उसके बारे में तमाम सबूत इकट्ठा कर चुकी है।देहरादून पुलिस को उत्तर प्रदेश और चेन्नई पुलिस के माध्यम से अहम सुराग मिले हैं। फिलहाल दो टीमें उसके पीछे लगी हैं। इनमें से एक उसके पैतृक नगर धामपुर में भी दबिश दे रही है। अधिकारियों का दावा है कि जावेद को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।उन्हें अहम सुराग मिले हैं। जल्द ही जावेद को गिरफ्तार किया जा सकता है। उसके पीछे कम से कम छह राज्यों की पुलिस है। उसने अपना ऑफिस गुरुग्राम में खोला हुआ है। जबकि, वह खुद को मुंबई का बताता था। जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।